सनसनीखेज खुलासाः बलात्कार में नाकाम होने पर की थी 12 की छात्रा की हत्या

January 1, 2019 3:31 pm0 commentsViews: 1259
Share news

 

नजीर मलिक

अंजू के कत्ल का एकमात्र बालिग अभियुक्त सुजीत पुलिस टीम के साथ

सिद्धार्थनगर। बांसी कोतवाली के ग्राम नेउसा गांव में दो दिन पूर्व हुई 12 साल की छात्रा अंजू की हत्या का खुलासा हो गया है। पुलिस ने आज मंगलवार को इस सिलसिले में तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनमें दो नाबालिग बताये जाते हैं। मृतका अंजू कक्षा 6 की छात्रा थी। तीनों अभियुक्त मृतका के ग्राम नेउसा के ही निवासी हैं।  

बताया जाता है कि पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि मृतका के गाव नेउसा गांव में तीन युवक सुजीत कुमार, सचिन कुमार व मंगेश कुमार गांव में असामान्य अवस्था में इधर उधर घूमते देखे जा रहे हैं। उनकी आम शोहरत भी खराब है। उनसे अंजू की हत्या के बारे में जानकारी मिल सकती है। इस खबर के बाद पुलिस ने तीनों  को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। पहले तो उन्होंने इस बारे में जानकारी से इंकार किया, मगर अंत में वे टूट गये और उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

तीनों युवकों के मुताबिक उन लोगों ने 30 दिसम्बर को अंजू को अकेला पाकर, जबरन घसीट कर उसके साथ रेप करने की कोशिश की। मगर 12 साल की उस लड़की को तीनों युवकों की नीयत का पता चल गया। उसने शोर मचाया और बहदुरी से उन तीनों की हरकतों को मुकाबला करने लगी। तीनों युवक जब अंजू पर काबू न पा सके तो मामला खुलने और बदनामी के भय से उन लोगों ने अंजू की गला दबाकर हत्या कर दी और उसकी लाश को बोर में बांध कर वहीं फेक कर भाग गये।  इसके बाद शाम को लोगों को अंजू की लाश मिली।

बता दें कि मृतका अंजू भी नेउसा गांव की निवासिनी थी और गांव में स्थित स्कूल में कक्षा 6 की छा़त्रा थी। सुजीत, सचिन और मंगेश ने उसे स्कूल के निकट ही मारा था। समाचार लिखने तक मामले की जांच में लगे बांसी कोतवाली प्रभारी इंस्व्पेक्टर  रवीन्द्र कुमार सिंह और स्वाट प्रभारी पंकज सिंह ने सुजीत को जेल भेज दिया है, जबकि बाकी दो युवकों के नाबालिग (18 साल से कम आयु) होने पर सुधार गृह भेज दिया है।  इस मामले को पर्दाफाश करने वाली 11 सदस्य पुलिस टीम को एस पी ने 5 हजार का नकद इनाम दिया है।

 

(1146)

Leave a Reply


error: Content is protected !!