अदेय प्रमाण पत्र के नाम पर खुलेआम लुट रहे प्रधान पद के दावेदार

November 15, 2015 7:07 PM0 commentsViews: 951
Share news

संजीव श्रीवास्तव

jaati pramaan

प्रधान एवं ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए होने वाले प्रथम चरण के चुनाव में नामांकन कार्य सोमवार से शुरु हो रहा है। दोनों पदो ंके दावेदारों के लिए अदेय प्रमाण पत्र संलग्न करना अनिवार्य है। इस प्रमाण पत्र को जारी करने के लिए जिम्मेदारों द्वारा दावेदारों को खुलेआम लूटा जा रहा है। निःशुल्क जारी होने वाले इस प्रमाण पत्र के लिए सेक्रेटरी दावेदारों से पांच-पांच सौ रुपये वसूल रहे हैं।

प्रथम चरण में नौगढ़, उसका, बर्डपुर और लोटन विकास खंडों में नामांकन कार्य सोमवार और मंगलवार को होना है। इसके लिए नामांकन पत्रों की बिक्री का कार्य शुरु हो चुका है। नामांकन पत्र के साथ दावेदारों को नो-डयूज भी देना है। इसके लिए सभी विकास खंडों पर अलग से काउन्टर बनाये गये है। एक नो-डयूज सेक्रेटरी को भी देना है।

इस प्रमाण पत्र को प्राप्त करने के लिए दावेदारों को काफी कीमत अदा करनी पड़ रही है। दावेदार बेबस है। इसलिए वह सेक्रेटरी के हाथों लूट रहे हैं। जबकि जो अदेय प्रमाण पत्र जारी किया जा रहा है, उस पर कहीं भी पैसे का उल्लेख नहीं है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि अखिर सेक्रेटरी संवर्ग को इस लूट की छूट किसके द्वारा मिली है।

उसका विकास खंड के एक सेक्रेटरी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि वह अकेले इस लूट में नहीं है, बल्कि बीडीओ, सीडीओ सबका हिस्सा तय है। ऐसे में दावेदारों को लूटना उनकी मजबूरी है।

Leave a Reply