सिद्धार्थनगर के सियासी शेयर बाजार में ओवैसी की पार्टी चढ़ान पर, कई दिग्गज दांव लगाने में जुटे

September 10, 2015 11:54 am3 commentsViews: 3627
Share news

नजीर मलिक
ovais
बसपा से चुनावी समझौते की खबर के बाद से ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस इत्तादुल मुसलमीन (ऐमिम) का भाव सिद्धार्थनगर के सियासी शेयर बाजार में चढ़ान पर है। जिले के कई बड़े नेता इस समीकरण का फायदा उठाने के लिए ऐमिम में शामिल हो सकते हैं। इसके लिए उनका पार्टी सुप्रीमों असदुदृदीन ओवैसी से सम्पर्क का प्रयास शुरू हो गया है।

पीस पार्टी की खस्ताहाली की वजह से जिले में औवैसी की पार्टी का जनाधार घीरे घीरे ही सही, मगर बढ़ रहा था। हालांकि उनकी पार्टी का सांगठनिक ढांचा अभी तक जिले में खड़ा नहीं हुआ है, मगर पार्टी के प्रतिबद्ध कार्यकर्ता अपना काम बखूबी कर रहे थे। इस बीच बहुजन समाज पार्टी से ऐमिम के समझौते की चर्चा ने अचानक यहां की सियासत में हलचल मचा दी।

खबर है कि सिद्धार्थनगर हेडक्वार्टर के एक बड़े नेता ने ओवैसी से सम्पर्क साधना शुरू कर दिया है। वह हाल तक बसपा की ओर से शोहरतगढ़ विधानसभा के उम्मीदवार थे, मगर अचानक उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। बताया जाता है कि वह जल्द ही ओवैसी से दिल्ली या हैदराबाद में मुलाकात कर पार्टी में शामिल होने की घोषणा करेंगे। उक्त सियासतदान की सिद्धार्थनगर, शोहरतगढ़ की सियासत में अच्छी पकड़ है। इससे ऐमिम को यकीनन फायदा होगा।

खबर मिली है कि उक्त नेता के साथ एक महिला राजनीतिक भी ऐमिम में जा सकती हैं। पिछले विधान सभा चुनाव में वह सदर विधानसभा क्षेत्र से पीस पार्टी के टिकट पर लडी थीं , मगर नाकामयाब रही थीं। कुछ लोग उनके इंजीनियर पति के सम्पर्क में हैं। अगर उन्हें टिकट का आश्वासन मिलता है तो वह भी ऐमिम की जहाज में सवार हो जायेंगी।

डुमरियागंज विधान सभा क्षेत्र से एक बडी राजनीतिक हस्ती भी, अगर आने वाले दिनों में ओवैसी की पार्टी का परचम थाम लें तो किसी को ताज्जुब नहीं होना चाहिए। दरअसल उक्त परिवार की पहली पसंद समाजवादी पार्टी है, मगर हालात अनुकूल न होने पर उन्हें कहीं न कहीं ठिकाना बनाना ही पडेगा। बसपा, सपा व पीस पार्टी का सफर तय करने के बाद उनका नया घर ऐमिम हो सकता है। उक्त राजनीतिक हस्ती के परिजनों ने इस संभावना से इंकार नहीं किया है।

इसके अलावा दूसरी कतार के भी कई नेता ओवैसी की पार्टी में अपना भविष्य तलाशने में जुटे हैं। पता चला है कि पंचायतों का चुनाव खत्म होने के साथ ही यह मुहिम जोर पकडे़गी। तब आवैसी खुद यहां आम सभा कर नेताओं को पार्टी ज्वाइन करायेंगे। हालांकि पार्टी का काम देख रहे सलमान मलिक ने ऐसी किसी जानकारी से इंकार किया है, मगर पूर्व बसपा नेता ने कपिलवस्तु पोस्ट से हुई बातचीत में खुद इस बात को स्वीकार किया है।

तो लीजिए जनाब! सिद्धार्थनगर में एक और सियासी दल के जोर शोर से आगमन का इंतजार कीजिए।

(27)

Tags:

3 Comments

  • नज़ीर मालिक साहब ..आप ने बहुत ही सही और सटीक आकलन किया है ,गढ़बंधन के बिना कोई भाई अपने जनाधार पर सरकार नहीं बना सकती …भीम और मीम ही दो ही ऐसी पार्टिया है जो उत्तर प्रदेश में कम्युनल और लाली पॉप देने वाली पार्टियो को धूल छठा सकती है..इस से बेहतर कोई ऑप्सन हाे नहीं सकता ..अगर पीस पार्टी और आप भी मिल जाये तो और भी बेहतर विकल्प होता ,नहीं तो मीम और भीम ही काफी है सूपड़ा साफ़ करने के लिए यू पी में.इंशा अल्लाह !

  • Vote for samajwadi party
    Samajwadi party .Siddharth Nagar
    Azad ali warsi
    Lohia wahine
    ( vill-Mahadeva lala)
    SDR

Leave a Reply


error: Content is protected !!