पचास बीघा फसल जल कर राख, पीपुल्स एलाएन्स ने दी ढाई दर्जन किसानों को मदद

April 13, 2020 12:06 pm0 commentsViews: 653
Share news

— डुमरियागंज क्षेत्र के परसा हुसैन गांव के 36 किसानों की 50 बीघे से ज्यादा गेंहू की फसल जलकर राख

— सरकार किसानों को तत्काल उचित मुआवजा का प्रबन्ध कर किसानों को राहत पहुंचाए- रिहाई मंच

 

 

अजीत सिंह

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। पीपुल्स एलायन्स ने सामाजिक क्रांति के अग्रदूत ज्योतिबा फूले साहब की जयंती पर उनके संघर्षों याद करते हुए परसा हुसैन गाँव में किसानों को राहत खाद्य सामग्री वितरण के लिए पहुंचीं। पीपुल एलायंस ने तकरीबन ढाईदर्जन पीड़ित किसानों को रहत सामग्री वितरित की। लेकिन सरकार की ओर से अभी कोई राहत नहीं पहुंची। किसान प्रशासन से बहुत उम्मीद लगाये बैठे हैं।

रिहाई मंच के नेता शाहरूख ने बताया कि लाकडाउन के कारण छोटे किसान वैसे ही आथिक रूप से परेशान हैं। ऊपर से इस विपत्ति पर प्रशासन की शिथिलता उन्हें हलकान कर रही है। ऐसे में यदि लाक डाउन बढ़ता है तो उन घरों में चूल्हे कैसे जलेंगे। उन्होंने केंद्र और प्रदेश सरकार तत्काल नुकसान का सर्वे कराकर किसानों को मुआवजा देने की मांग की है।।

वहीं रिहाई मंच के नेता अज़ीमुश्शान फ़ारूक़ी ने कहा किफायर ब्रिगेड की गाड़ी समय से नहीं पहुंच पाने की वजह से किसानों का भारी नुकसान हो गया। ऐसे में प्रशासन फायर स्टेशन को अलर्ट करे जिससे जानमाल की हानि न हो। फायर स्टेशन का हेल्पलाइन नंबर अखबारों में सावर्जनिक कर, सुचारू रूप से काम करे। फायर बिर्गेड की गाड़ियों की संख्या बढ़ाई जाए। \

बता दें कि कल डुमरियागंज तहसील क्षेत्र के परसा हुसैन गांव में कंबाइन से गेहूं काटते समय खेत में आग लग गई, देखते ही देखते आग ने भयावह रूप ले लिया जिससे 50 बीघा से अधिक फसल जलकर राख हो गयी। सैकड़ों ग्रामीणों की मदद से घंटों बाद आग पर काबू पाया गया।ग्रामीणों का आरोप फायर ब्रिगेड की गाड़ी समय से पहुंचती तो खेत नहीं जलते। हर साल फायर ब्रिगेड की लचर व्यवस्था के चलते जिले में कई हजार बीघा फसल जलकर राख हो जाती है।पीड़ित किसानों का कहना है कि अगर उन्हें मुआवजा नहीं मिला तो वह सदमे में ही दम तोड़ जाएंगे।

पीपुल्स एलायन्स परसा हुसैन गाँव में आग लगने से पीड़ित किसानों को राहत खाद्य सामग्री व आवश्यक वस्तुओं का वितरण किया। राहत खाद्य सामग्री वितरण में शाहरुख अहमद, अज़ीमुश्शान फ़ारूक़ी, नासिर खान मौजूद रहे।

(586)

Leave a Reply


error: Content is protected !!