कोरोना का कहर देखिए, पिता  की मौत के बाद उनके शिक्षक बेटे की भी मौत, परिवार बेसहारा

April 18, 2021 11:25 am0 commentsViews: 1138
Share news

रविवार की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को 111 नये लोगों में पाया गया कोराना संकमण

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। जिले में कोरोना का कहर जारी है। इसके कहर से गत दिवस उस्का बजार थाना क्षेत्र में कार्यरत शिक्षक उपेन्द्र की मौत हो गई। इस खबर से क्षेत्र के शिक्षकों व कर्मचारियों में शोक लहर दौड़ गई। मृत अध्यापक की उम्र लगभग 40 वर्ष थी। इससे पांच दिन पूर्व उनके पिता भी करोना के शिकार होकर परलोकवासी हो गये थे। इन दोनों मौतो से उनका भरा पूरा परिवार बेसहारा हो गया है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को जिले में कोराना संक्रमण के कुल 111 नये मरीज पाये गये है।

 मृत टीचर मूल रूप से गोरखपु के निवासी थे और सदर तहसील के उस्का बाजार में रह कर नौकरी कर रहे थे। उन्होंने कोरोना संक्रमण के कारण शुक्रवार को दम तोड़ा। जबकि, बीते 12 अप्रैल को उनके पिता की मौत हो गई थी। पिता की मौत भी कोरोना संक्रमण के कारण हुई है। पिता पुत्र की मौत के बाद क्षेत्र के शिक्षकों-कर्मचारियों की चिंता बढ़ गई है।

चुनाव में ड्यूटी लगी है, हो गए पॉजिटिव

उसका विकास खंड में तीन शिक्षकों की चुनाव ड्यूटी लगी है लेकिन कोरोना जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई है। एक अन्य शिक्षक की पत्नी और पुत्र कोरोना पॉजिटिव है, उन्होंने निर्वाचन कार्यालय में इसकी जानकारी भेजी है। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राधेरमण त्रिपाठी ने कहा कि वह प्रशासन से बात करेंगे कि कोरोना संक्रमित शिक्षक कर्मचारी एवं जिनके परिवार में कोरोना संक्रकमित हैं, उनकी चुनाव ड्यूटी काट दी जाए।

तहसीलकर्मी एवं अधिवक्ता संक्रमित

 इटवा तहसील में तहसीलकर्मी और अधिवक्ता समेत चार कोरोना पाजटिव मिले हैं। बृहस्पतिवार को तहसील में एक राजस्व निरीक्षक के सैम्पल की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अन्य लोगो की भी जांच करायी गयी। शुक्रवार को आयी जांच रिपोर्ट के अनुसार एक अधिवक्ता सहित दो अन्य तहसील कर्मी कोरोना पाजटिव पाये गए। एसडीएम उत्कर्ष श्रीवास्तव का कहना है कि इन सभी को होम आइसोलेट कर दिया गया है और तहसील परिसर को सेनेटाइज कराया गया है ।

(1082)

Leave a Reply


error: Content is protected !!