प्रेमिका की इज्जत लुटती रही और मजबूर प्रेमी देखता रहा,  गैंगरेप के दरिंदों की चप्पे चप्पे में तलाश रही पुलिस

June 26, 2024 12:45 PM0 commentsViews: 260
Share news

 

उफ! इस तरह की हैवानियत कि पांच आदमखोर दरिंदे एक एक कर युवती की इज्जत को तार तार करते

रहे और  वह  मदद के लिए छटपटाती रही, कोततवाल  का दिल नहीं पसीजा उन्होंने भी दुत्कार दिया

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। जोगिया कोतवाली से मात्र कुछ सौ मीटर दूर लबे सड़क पर एक प्रेमी के सामने उसकी प्रेमिका से 5 हैवानों द्वारा किया गया सामूहिक बलात्कार की घटना जघन्यतम और हैवानियत से भरी है। उसे भी शर्मनाक कृत्य है घटना की रिपोर्ट लिखाने आया युवती को थाने से भगा देना। इस मामले में कोतवाल जोगिया सत्येंद्र कुमार सिंह को निलम्बित करके एसपी प्राची सिंह ने मामले की जांच के निर्देश दिये हैं जिसकी गंभीरता को देखते हुए पुलिस उन दरिंदों की गिरफतारी के लिए पूरे इलाके को मथना शुरू कर दिया है।

रागनी लुटती रही, बेबस दीपक देखता रहा

बता दें कि कोतवाली क्षेत्र के ककरही और जोगिया के बीच एक मकान में रागिनी अपने प्रेमी दीपक (बदला हुआ नाम) के साथ रविवार को बैठी हुई थी। रात में अचानक वहां पांच युवक आ धमके।  उन्होंने प्रेमी दीपक को अपने कब्जे मे लिया और एक एक कर पांचों ने उसकी प्रेमिका के साथ दुष्कर्म किया। प्रेमिका की लाज लुटती रही और प्रेमी मजबूर होकर यह सब देखता रहा। इस दरिंदगी पर क्या बीती होगी दोेनो पर, यह बात सहज ही समझी जा सकती है। बहरहाल  सामूहिक दुष्कर्म के बाद वे पांचों मौके से फरार हो गए थे। महिला की शिकायत पर कोतवाल सत्येंद्र सिंह द्धारा मामला फर्जी कहने पर युवती ने इसकी शिकायत एसपी प्राची  सिंह से किया। उन्होंने कोतवाल की लापरवाही पाने पर  कोतवाल को फौरन सस्पेंड कर दिया। इसके साथ ही मामले का पर्दाफाश करने के लिए जोगिया पुलिस के अलावा चार और टीम को लगा दी।

दुष्कर्मियों को पकड़ने के लिए 4 टीमे गठित

बहरहाल प्राथमिक जांच में ऐसा लगा कि दुष्कर्मी आसपास के ही थे। फलतः सामूहिक दुष्कर्म की इस वारदात में उन पांच वहशी चेहरों की पहचान के लिए पुलिस टीम अलग-अलग यह खंगालने में जुटी हुई है कि उस वक्त वहां से कौन गुजरा था। आसपास के लोगों से यह जानकारी लेने में जुटी हुई है। जिससे वारदात को अंजाम देने वालों की तस्दीक हो सके और उन्हें दबोचा जा सके। घटना सही होने की बात सामने आने के बाद पुलिस पूरी तरीके से अलर्ट मोड में है और जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने में लगी है।

72 घंटे बाद भी पुलिस अंधेरे में

इस सनसनीखेज वारदात को 72 घंटे से अधिक से अधिक हो चुके हैं, मगर पुलिस अभी तक आरोपियों तक नहीं पहुंच पाई है। महिला से भी हुलिया के बारे में जानकारी ले रही है। जिससे आसपास का अगर कोई हो तो लोगों से उनके बारे में जानकारी लेकर पकड़ा जा सके महिला ने जिस वक्त उसे खाली घर में वारदात होने की बात पुलिस को बताई है। उस आधार पर सर्विलांस सेल की टीम यह जानने में जुटी हुई है कि उस रेडियस में 100 मीटर के दायरे में कितने फोन एक्टिव थे। कौन करीब था यह डाटा खंगालने के बाद पुलिस नतीजे पर पहुंच जाएगी। इसके बाद ऐसे लोगों से संपर्क करके उनसे पूछताछ कर सकती है।

यह है उनकी आपबीती

चिल्हिया थाना क्षेत्र के एक गांव की महिला रविवार को अपने प्रेमी उसका बाजार थाना क्षेत्र के पकड़ी गांव निवासी एक युवक से मिलने आई थी। दोनों नौगढ़-बांसी मार्ग पर जोगिया व ककरही के बीच एक खाली मकान में रविवार की देर रात बैठे थे। इस दौरान चार से पांच की संख्या में पहुंचे युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म कर दिया। सोमवार की सुबह महिला जोगिया थाने पहुंच घटना की जानकारी देते हुए थानेदार को तहरीर दी। तहरीर मिलने के बाद भी थानेदार ने केस दर्ज नहीं किया। इसके बाद महिला थाने से बाहर निकल कर 1076 पर नंबर पर फोन कर दिया। इसके बाद मामले की जानकारी एसपी को दी गई। मामले की जानकारी होते ही एसपी ने मौके पर पहुंच कर घटना की जानकारी ली।

पुलिस अधीक्षक ने कहा

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक प्राची सिंह ने बताया की सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। लापरवाही में कोतवाल को सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले को ओपेन करने के लिए  अलग-अलग टीमें काम कर रही है। उम्मीद है कि  जल्द ही मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

 

 

 

 

 

Leave a Reply