पुलिस का दावा, लूट की वारदातों से दहशत फैलाने वाले तीन लुटेरे गिरफ्तार

August 26, 2015 4:09 pm0 commentsViews: 279

नज़ीर मलिक 

chor1234

“सिद्धार्थनगर पुलिस का दावा है कि ज़िले के अलग-अलग हिस्सों में हुई लूट की तीन वारदातों को एक ही गिरोह ने अंजाम दिया था। इनमें जिला मुख्यालय पर एक ज्वैलर को गोली मारकर सरेशाम दो लाख की लूट भी शामिल है। पुलिस ने इस गिरोह के तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। एक मुलजिम अभी फरार है। एसपी अजय साहनी का मुताबिक इनके पास से लूटे गए दो मोबाइल, साढ़े दस हज़ार रुपए के अलावा कट्टा और कारतूस भी बरामद किया है। पकड़े गए बदमाश कल्लू और इस्लाम डुमरियागंज के बिथरिया गांव और औरंगजेब पड़ोसी जनपद बलरामपुर के ऐलरा गांव के रहने वाले हैं।”

सिद्धार्थनगर पुलिस के मुताबिक कल्लू उर्फ सद्दाम, इस्लाम और औरंगजेब बीती रात डुमरियागंज कस्बा होकर नेपाल भागने की फिराक में थे। मगर मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने उन्हें राप्ती नदी के पुल पर दबोच लिया। उनके पास से पिछली वारदातों में लूटे गये दो मोबाइल फोन और 10 हजार रूपये भी बरामद हुए हैं।

एसपी अजय कुमार साहनी ने दावा किया है कि मुलज़िमों ने अपना जुर्म कुबूल लिया है। उनके मुताबिक इन्हीं बदमाशों ने बीती 22 जुलाई को शाम लगभग सात बजे सिद्धार्थनगर नगर मुख्यालय पर ज्वैलर संतोष वर्मा को गोली मार कर दो लाख की लूट की थी। इस वारदात के ठीक एक सप्ताह पहले उन्होंने डुमरियागंज थाने के ग्राम कादिराबाद के पास बिस्कोहर निवासी एक प्राइवेट डाक्टर को रिवॉल्वर दिखा कर 10 हजार की रकम लूट ली थी।

फिर वहां से भागने के दौरान जोगिया क्षेत्र में एक राहगीर से भी लूटपाट की थी। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों में कल्लू और इस्लाम पर सन 2013 में भी भवानीगंज थाने में दो मोटर साइकिल लूटने के मुकदमें दर्ज हैं। लूट के बाद सभी मुम्बई की तरफ भाग निकले थे। महाराष्ट्र के थाणे जिले से ही पुलिस ने उन पर मुखबिर लगा रखा था। इन पर पांच पांच हजार के इनाम भी हैं। एसपी के मुताबिक घटना में शामिल एक अन्य बदमाश अभी फरार है लेकिन वह जल्द ही गिरफ्त में होगा।

पुलिस ने तीनों अभियुक्तों को आईपीसी की धारा 392, 394, 411 व आर्म्स  एक्ट के तहत जेल भेज दिया है। एसपी अजय साहनी ने एसएसआई मनोज त्रिपाठी, प्रभारी सर्विलांस मनोज कुमार राय प्रभारी स्वाट गिरिजेश उपाध्ध्याय व टीम में शामिल अन्य को 15 हजार का पुरस्कार दिया है।

(2)

Tags:

Leave a Reply