लड़की संग छेड़छाड़ की घटना पर पुलिस गंभीर हुई होती तो नहीं होती त्रियुगी की हत्या ?

June 24, 2023 4:42 PM0 commentsViews: 671
Share news

लड़की छेड़ने की शिकायत पर पुलिस ने गाडी में पेट्रोल के नाम पर 5 पांच सौ रिश्वत भी लिया और गांव गये फिर भी नही की कोई कार्रवाई

नजीर मलिक


सिद्धार्थनगर। काश छोड़छाड़ की शिकायत मिलने पर मौके पर पहुंची पलिस ने कोई ठोस कार्रवाई कर दिया होता तो लड़के के बेकसूर पिता त्रियुगी की हत्या नहीं होती। लेकिन कार्रवाई के बजाए पुलिस ने लड़की पक्ष के घर से पेट्रोल के नाम पर पांच सौ रुपये भी लिए और परिवार को एक मनबढ़ के सामने असहाय छोड़ दिया। जिसका नतीजा त्रियुगी की हत्या के रूप में सामने आया। घटना बांसी कोतवाली क्षेत्र के तेलौरा गांव की है। जहां शुक्रवार अपरान्ह 4 बजे चाकू मार कर त्रियुगी की हत्या की गई। इस मामले में एस पी ने पुलिस की भूमिका की जांच की बात कही है।

क्या है पूरी घटना की कहानी

दरअसल 43 वर्षीय त्रियुगी और उसके पड़ोसी फागू के बीच किसी बात को लेकर पुरानी अदावत चल रही थी। फागू का 21 साल का पुत्र विशाल साहनी मनबढ़ स्वाभाव का युवक था। वह आये दिन त्रियुगी के परिवार वालों से अकारण उलझता रहता था। बताते हैं कि गुरुवार को त्रियुगी पत्नी कुसुम देवी व बेटे विजय के साथ पड़ोस के बनकटा गांव में शादी में गये थे। इसी दौरान शाम को मौका देख कर विशाल ने त्रियुगी की युवा बेटी से छेड़छाड़ की एतराज करने पर उनके घर पहुंच कर पूरे परिवार को गाली दिया। लेकिन घर पर मर्द न होने के कारण दोनों बेटियां खामोश रहीं।

मृतक की पत्नी कुसुम देवी के अनुसार बृहस्पतिवार की रात वह अपने पति व बेटे के साथ बनकटा शादी में गईं थीं। रात में ही उनके घर आकर विशाल बेटियों ऋतु (21), नीतू (16) व बेटे विनय (12) को भद्दी-भद्दी गालियां दे रहा था। शुक्रवार सुबह घर आने पर जब मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने अपने बड़े बेटे के साथ थाने पर जाकर घटना की लिखित तहरीर दी। पुलिस गांव में आई और कार्रवाई के बजाय दोनों पक्षों को डांट-डपटकर चली गई।

जब उन्होंने विशाल को गिरफ्तार करने को कहा तो भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। विजय ने आरोप लगाया कि घर पर आए पुलिस वालों ने उससे पांच सौ रुपये रिश्वत भी लिए थे, फिर भी कार्रवाई नहीं की। जिसका नतीजा यह रहा कि विशाल साहनी ने उसी दिन अपरान्ह चार बजे त्रियुगी को चाकुओं से गोद कर मौत के घाट उतार दिया। समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने घटना के मुख्य आरोपी विशाल को गिरफ्तार कर लिया है। तीन अभी फरार बताये जाते हैं।

फिलहाल त्रियुगी उर्फ गोपई की हत्या के बाद उनकी पत्नी कुसुम व बेटे विजय ने गंभीर आरोप लगाए हैं। त्रियुगी के बड़े पुत्र विजय का कहना है कि शिकायत के बाद शुक्रवार सुबह पुलिस आई थी। उन्होंने पांच सौ रुपये भी लिए और आरोपी को डांट-डपट कर चली गई। काफी कहने के बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जिससे उनके पिता की हत्या हो गई।

पुलिस की लापरवही कह जांच होगी- पलिस अधीक्षक

इस बारें में पलिस अधीक्षक अमित आनंद का कहना है कि पुलिस की लापरवाही से उनके पिता की हत्या हुई है और वह अनाथ हो गए। महिला की तहरीर पर पुलिस मौके पर पहुंची थी और दोनों पक्षों को समझाकर लौट आई थी। ऐसी घटना की आशंका नहीं थी। हत्या के मामले की जांच की जा रही है। इसके साथ ही रिश्वत मांगने की भी जांच की जाएगी। मामले में दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply