दुर्गा प्रतिमा विवादः सीओ ने ग्रामीणों को धमकाया ‘नौटंकी करोगे तो जमीन में गाड़ दूंगा’?

October 10, 2023 12:27 PM0 commentsViews: 1025
Share news

 नजीर  मलिक

विवादित स्थल पर सीओ और एसडीएम डुमरियागंज

सिद्धार्थनगर। जिले के पथरा थाने में एक विवादित जमीन पर प्रतिमा पूजा पंडाल की शिकायत पर पहुंचे सीओ डुमरियागंज सुजीत कुमार राय ने कहा कि जो नौटंकी करेगा, उसे जमीन खोदकर गाड़ दूंगा…।  इस प्रकरण की विडियो जब तेजी से वायरल होने लगी तो उन्होंने इस मामले में सफाई दी। सीओ का सफाई में कहना था कि उन्होंने लोगों को डराने के लिए धमकी दी थी, लेकिन किसी ने इसकी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। हालांकि सीओ ने अपना पक्ष रखते हुए इस आशय के बयान दिया जिससे कथन से इंकार, स्वीकार सभी समझा जा सकता है।

क्या है प्रतिमा विवाद

अमर उजाला की वेवसाइट के मुताबिक पथरा थाने के तिगोड़वा चौराहे पर दुर्गापूजा सम्बंधी विवाद सुलझाने जब सीओ सुजीत कुमार राय एसडीएम डुमरियागंज प्रमोद कुमार, के साथ  मौके पर पहुंचे तो  मौके का निरीक्षण कर दोनों अफसरों ने दोनों पक्षों को निर्देश दिए। प्रतिमा स्थापित करने वाले पक्ष ने जब यह सवाल उठाया कि विवादित स्थल के निकट प्रशासन जिस जगह इस साल प्रतिमा स्थापित करने की बात कर रहा है। उस जगह पर किसी का कब्जा है।लिहाजा वह प्रतिमा कैसे स्थापित कर सर पायंगे। बताते हैं कि इसी सवाल पर सीओ ने प्रतिवादी पक्ष को जमीन में गाड़ देने की बात कही। उनके इस कथन से ग्रामीणों में काफी क्षोभ है।  बता दें  कि  इसी स्थान पर पिछले साल भी मां दुर्गा का पंडाल बनाने के लिए विवाद हुआ था। इस बार विवादित स्थान के बगल में दुर्गा प्रतिमा स्थापित जाएगी। इसी विवद को सुलझााने में सीओ द्धारा  ग्रामीणों को  कथित तौर पर धमकाने के संबंध में एक वीडियो वायरल हो रहा है।

तीन दशक से हो रही प्रतिमा स्थापित

बताते चलें कि तिगोड़वा चौराहे पर पिछले तीन दशक से दुर्गा प्रतिमा स्थापित कर पूजा की जाती है। इस दौरान कई बार स्थापना स्थल बदलते रहे। पिछले कई सालों से जिस स्थान पर प्रतिमा स्थापित होती थी, वह स्थान बीते वर्ष विवादित हो गया था। गांव की एक महिला ने उसे अपनी भूमि बताते हुए वहां प्रतिमा की स्थापना न करने की मांग की थी। तब प्रशासन ने जद्दोजहद करके दूसरे स्थान पर प्रतिमा पंडाल बनवाया था। यहां पर अब भी पिछले साल की बांस-बल्ली लगी है।

इस बीच उपजिलाधिकारी ने मौके पर पहुंचकर अंतिम फैसला होने तक उस स्थान के बगल में प्रतिमा स्थापना के निर्देश दिए। साथ ही प्रतिमा का विसर्जन पुराने मार्ग पर कीचड़ होने के कारण इस बार मुख्य मार्ग से करने के भी निर्देश दिए।

ग्रामीणों ने कहा

प्रतिमा स्थापना करने वाले पक्ष के शेष राम यादव का कहना है कि जिस भूमि पर प्रशासन प्रतिमा स्थापना करने की बात कर रहा है, वह दूसरे के कब्जे में है। ऐसे में वहां स्थापना कैसे की जाएगी। इन लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी ने हम लोगों को खोद कर जमीन में डाल देने की धमकी भी दी है। इसका वीडियो बनाकर स्थानीय लोगों ने वायरल कर दिया है। इस दौरान थानाध्यक्ष मीरा चौहान सहित सुरक्षा बल भी मौजूद थे।

क्सा  कहना है सीओ डुमरियागंज का

वेब साइट के मुताबिक इस बारें में डमरियागंज के सीओ  सुजीत कुमार राय का कहना है कि एक विवादित जमीन पर पहले प्रतिमा स्थापित की जाती थी। एक महिला ने इस बार शिकायत की है और एसडीएम ने जमीन आवंटित कर दी है। उसके बावजूद भी कुछ लोग उसी स्थान पर प्रतिमा स्थापित करना चाहते थे। ऐसे लोगों का डांटा-समझाया गया कि गलत करोगे तो जमीन में धंस जाओगे। माता की पूजा सुख-शांति के लिए की जाती है। पूजा के कारण अशांति नहीं होनी चाहिए।

 

Leave a Reply