गोन्हा मर्डर केसः शातिर प्रेमिका को निपटा देने के लिए  प्रेमी ने रचा था कटहल का विवाद का नाटक

May 22, 2023 12:59 PM0 commentsViews: 1205
Share news

प्रेमिका ने प्रेमी से पहले डेढ़ बीघा जमीन की रजिस्ट्री करा ली अपने नाम, बाद में मांगने लगी

पूरे खेत में आधा हिस्सा, मजबूर होकर प्रेमी बरसाती ने कर दिया प्रेमिका बांसमती का कत्ल  

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। कटहल के विवाद  का लेकर हुई मारपीट में महिला की की मौत का मामला आस्मिक नहीं बल्कि सुनियजित हत्या थी। जोगिया कोतवाली क्षेत्र के गोनहा गांव में हुई अस घटना का रहस्य रविवार शाम को दो आरोपियों के पकड़े जाने पर खुला। आरपियों के बयान को मानें तो कटहल को लेकरकिया गया विवाद तो एक बहाना था। असली मकसद तो प्यार की ओट में साजिश कर रही अपनी प्रमिका को निपटाना था। पकड़े गए मुख्य आरोपी बरसाती लोधी ने बताया कि जिस महिला की हत्या हुई है, उससे उसका सात वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था।  लेकिन प्रेम की ओट में जब उसकी असली नीयत का पता चला तो उसकी हत्या करने पर मजबूर होना पड़ गया।

पत्रकारों के समक्ष मुख्य आरोपी बरसाती ने जो कुछ  बताया उसके अनुसार जोगिया कोतवाली क्षेत्र के गोनहा गांव के राजू  की पत्नी 40 वर्षीय बासमती पत्नी राजू का गांव के ही बरसाती लोधी से पिछले सात वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मुहब्बत के इसी दौर में एक दिन बांसमती ने अपने कथित प्रेमी बरसाती से अपनी गरीबी का रोना रोया, जिससे भवावेश में आकर बरसाती ने अपनी प्रेमिका बांसमती के नाम  अपना डेढ़ बीघा खेत रजिस्ट्री कर दिया और दोनों प्रेमी प्रेमिका मजे से रहने लगे।  सह बात बांसमती व बरसाती के परिवारों कों भलीभांति मालूम थी। मगर दोनों परिवारों ने हालात से समझौता कर लिया था।

पूछताछ में मुख्य आरोपी ने उगले राज

पुलिस के मुताबिक पूछताछ में मुख्य आरोपी बरसाती लोधी  ने बताया कि -सात तीन साल तक प्रमिका बांसमती मुझसे अच्छा व्यवहार करती रही। हम लोग आपस में मिल जुलकर प्रेम पूर्वक रहते  रहे। मगर करीब 11 माह पूर्व बासमती ने फिर मुझपर दबाव बनाया गया की तुम मुझे अपनी शेष जमीन का आधा हिस्सा मेरे नाम कर दो। जिसपर मैं तथा मेरा परिवार आपस में विचार-विमर्श करने लगे। अंत में काफी सोच विचार के बाद परिवार के भविष्य को सोच कर मैंने अपनी शेष जमीन अपनी सगी पत्नी किसलावती के नाम लिख दी।

इसी बात को लेकर आए दिन हमसे व हमारे परिवार के लोगों से बासमती से विवाद होता रहता था। इसी बात को लेकर मैं और मेरे परिवार वालों ने योजना बनाकर कल 20 मई की शाम को बासमती को डंडे से मार पीटकर हत्या कर दिया दी। कटहल तोड़ना तो संयोग रहा है। शुकंवार की रात कटहल पर हक को लेकर हुए विवाद में मुझे मौका मिल गया और मैने इस समस्या को जड़ से खतम करने के लिए मैने लकडी के मेटे डंडे से मार कर बांसमती की जान ले ली।

बता दें कि शुक्रवार की रात कटहल को लेकर हुए विवाद में बरसाती ने बांसमती के सिर पर लकड़ी के टुकड़े से हमला किया जिससे बांसमती की मौत हे गई थी। लोगों ने इसे आकस्मिक रूप से घटी घटना माना था। इस घटना में आरोपी बरसाती लोघी के अलावा, उसके पुत्र पत्नी और बेटे पर हत्या सहित अन्य धारा में केस दर्ज करके मामले का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस टीम लगा दी गई थी। रविवार दोपहर जब लोग पकड़े गये तो तो इस घटना के पीछे प्रेम और हत्या की एक अनोखी कहानी सामने आई। समाचार लिखे जाने तक  सभी अभियुक्तों को जोगिया कोतवाली पलिस ने न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

 

 

Leave a Reply