जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए गरीबदास और मंजू पासवान का खेमा सक्रिय, शांति पासी बन सकती हैं डार्क हार्स

November 10, 2015 8:18 am0 commentsViews: 450
Share news

नजीर मलिक

सदर विधायक विजय पासवान और राम कुमार उर्फ चिनकू यादव

सदर विधायक विजय पासवान और राम कुमार उर्फ चिनकू यादव

जिला पंचायत सिद्धार्थनगर के अध्यक्ष पद के लिए समाजवादी पार्टी के दो खेमों में भाग दौड़ तेज हो गई है। दोनों खेमों ने आलाकमान के सामने अपनी-अपनी जीत के बारे में दलीलें पेश की हैं। दोनों ही खेमों के मुताबिक आला कमान ने उनको सकारात्मक जवाब दिया है।

खबर है कि सदर विधायक विजय पासवान ने आठ नवम्बर को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि उनकी पत्नी मंजू पासवान इस पद के लिए बेहतर प्रत्याशी हैं। उनके चुनाव जीतने के बेहतर अवसर हैं।

सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री ने उन्हें वचन तो नहंी दिया, मगर आश्वासन जरूर दिया कि वह उनके मामले पर विचार करेंगे और अगर सब कुछ ठीक रहा तो मंजू पासवान को उम्मीदवार बनाया जा सकता है।

दूसरी तरफ जिला पंचायत गरीब दास के खेमे की कमान सपा नेता राम कुमार उर्फ उर्फ चिनकू यादव के हाथ में हैं। खबर है कि यह खेमा सदर विधायक के मुकाबले अधिक सक्रिय है। उनके समर्थक लखनउ में काफी सक्रिय हैं।

चिनकू यादव ने मुख्यमंख्त्री अखिलेश से सम्पर्क कर उन्हें अपने चार समर्थर्कों के जीतने के साथ कम से कम तीस जिला ंपंचायत सदस्यों के साथ रहने की जानकारी दी है और गरीबदास के जीतने की पुख्ता दलीलें पेश की हैं।

जानकारी के मुताबिक सपा कार्यालय में बैठे कई बड़े नेता चिनकू यादव के इशारे र गरीबदास खेमे के लिए लाबिंग करने में जुटे हुए हैं। चिनकू के एक करीबी सूत्र के मुताबिक आलाकमान से उन्हें गरीबदास के लिए मौखिक रूप से ठोस आश्वासन मिल चुका है। बस इसकी अधिकारिक घोषणा होना है।

उक्त सूत्र के मुताबिक गरीबदास की उम्मीदवारी पक्की है, लेकिन सवाल है, कि क्या यह इतना आसान है। जवाब पार्टी के कुछ अंदरूनी सूत्र ही देते हैं। उनकी दलील है कि उम्मीदवार के चयन में विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय की भूमिका की अनदेखी नहीं की जा सकत है। विधानसभा अध्यक्ष की दोनों ही खेमों की नापसंदगी छुपी नहीं है। इसलिए मुमकिन है कि पार्टी की तीसरी दावेदार शांति देवी पासी डार्क हार्स के रूप में सामने आ जाये तो ताज्जुब की बात नहीं होगी।

(5)

Leave a Reply


error: Content is protected !!