रंग लाया विधायक विनय शंकर का दबाव, गांव को बचाने की मुहिम शुरू

July 22, 2017 4:41 PM0 commentsViews: 856
Share news

     ––– अफसर ने कहा कि विधायक विनय शंकर के प्रयास से धन हुआ आवंटित, गांव के लोगों ने दिया धन्यवाद

 

एस.पी. श्रीवास्तव

गोरखपुर। चिल्लूपार के बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी का दबाव रंग लाया और मजबूर हो कर शासन द्वारा चिल्लूपार विधान सभा क्षेत्र के बड़हलगंज विकास खण्ड में राप्ती नदी के भीषण कटान से इतिहास बनने की ओर अग्रसर गांव जगदीशपुर व पौहरिया को बचाने हेतु सिंचाई विभाग द्वारा कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।

बताते चलें कि जगदीशपुर व पौहरिया गांव राप्ती नदी की कटान से बुरी तरह प्रभावित है। सैकड़ों एकड़ कृषि योग्य भूमि, दर्जनों घर नदी की धारा में विलीन हो गये। दोनों गांव के निवासी गांव को बचाने हेतु अधिकारियों व नेताओं के दरवाजे पर माथा टेकते रहे पर कहीं से कोई लाभ नहीं मिला,सिर्फ आश्वासनों की घुट्टी मिली।

चिल्लूपार के वर्तमान विधायक विनय शंकर तिवारी ने विधान सभा व जिला योजना की बैठक में कटान का मुद्दा जोरदार ढंग से उठाया जिसके चलते प्रदेश के सिंचाई मंत्री ने पौहरिया व जगदीशपुर को राप्ती नदी से बचाने का निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिया। मंगलवार को पूर्व जिला पंचायत सदस्य मदनकिशोर तिवारी की उपस्थिति में दोनों गांवों में बचाव कार्य शुरु हुआ।

बचाव कार्य करा रहे सिंचाई विभाग के अवर अभियंता योगेन्द्र चौधरी ने बताया कि विधायक जी की मांग पर दोनों गांवों को भीषण कटान से बचाने के लिए तत्काल 63 लाख 15 हजार रुपये मंजूर हुए है। जिसमे पौहरिया में 33.53 लाख व जगदीशपुर में 29.60 लाख खर्च होने है। इस धन से तत्काल बम्बू क्रेट बनाकर उसमें कंक्रीट भरकर बचाव कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। इससे नदी की धारा सीधे गांव से न टकरा कर बम्बु क्रेट से टकरायेगी और कमजोर हो जायेगी।

दोनों गांवों के लोगों ने विधायक विनय शंकर तिवारी को धन्यवाद देते हुए कहा कि यही कार्य अगर पांच-सात वर्ष पूर्व शुरु हो गया होता तो शायद हमारे दर्जनों साथी हमें छोड़कर अन्यत्र न जाते। इस अवसर पर अवर अभियंता आर.पी. सिंह, संजय कुमार सिंह, प्रधान अरविन्द सिंह, कमलेश सिंह, पूर्व प्रधान रविशंकर सिंह, पूनम चन्द शर्मा, प्रमोद पाण्डेय आदि सहित तमाम लोग उपस्थित

Leave a Reply