Exclusive – पूर्वांचल के कई सियासी दिग्गजों को कांग्रेस में लाने की प्रियंका की जोरदार मुहिम

February 13, 2020 2:37 pm0 commentsViews: 1007
Share news

 

— तीन बड़े सियासी परिवारों से बातचीत निर्णायक मोड़ पर, कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी है वार्ता के सू़त्रधार

 

नजीर मलिक

 “पूर्वी उत्तर प्रदेश में जल्द ही बड़ी सियासी घटना देखने को मिल सकती है। यदि सब कुछ रणनीति के मुताबिक चला तो पूर्वाचल के कई दिग्गज सियासी घराने कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। राजनीति की बिसात पर इसके लिए मोहरे सजाए हैं प्रियंका गांधी ने और वजीर को घेरने का जिम्मा मिला है कांग्रेस के पूराने नेता प्रमोद तिवारी को। फिलहाल यह देखना दिलचस्प होगा कि प्रियंका गांधी अपनी मुहिम में कहां ते कामयाब हो सकेंगी?”

कांग्रेस की महामंत्री और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी अपने मनोनयन के अरसा बाद प्रभारी की वास्तविक भूमिका में आई हैं। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार इस समय वह पुराने सम्बंधों के हवाले से पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई दिग्गज घरानों से सम्पर्क साध कर उन्हें पूरी इज्जत देने का वादा कर कांग्रेस में लाने की मुहिम चला रही हैं। इस मुहिम को बहुत गोपनीय रखा जा रहा है। उन दिग्गज नेताओं और प्रियंका गांधी के बीच पुराने कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी पुल का काम कर रहे हैं।

बताया जाता है कि इसके लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश के विभिन्न दलों के लगभग एक दर्जन लोगों को टार्गेट पर लिया गया है, जो दमदार नेता होने के बाद भी अपने अपने दलों में कतिपय कारणों सें नेपथ्य में रहने को मजबूर हैं। लेकिन सूत्र यह भी बताते हैं कि फिलहाल तीन बडे सियासी घराने को अपने खेमे में लाने में सफलता मिलने के आसार हैं। जिस दिन इन नेताओं से पूरी बात और शर्तें तय हो गईं, उसी दिन उनकी प्रियंका से बात होगी तथा उनके कांग्रेस में शामिल होने का विधिवत एलान कर दिया जाएंगा।

 कौन कौन है यह सियासी दिग्गज

खबर है कि पूर्वांचल का एक शक्तिशाली परिवार इस सूची में पहले नम्बर पर हैं। इस परिवार की पूर्वांचल के ब्राहमणों में काफी प्रतिष्ठा है। अतीत में यह घराना कांग्रेस के करीब भी रह चुका है। कहते हैं कि यह परिवार कांग्रेस में गया तो इस क्षेत्र में पार्टी में जान आ जायेगी।

इसके अलावा एक और परिवार है।  जो अतीत में कांग्रेस, बसपा होते हुए भाजपा में है। राजपूतों में इस घराने का प्रभाव है। इनके साथ इनके दिवंगत पिता की लंबी कांग्रेसी विरासत भी रही है। यह इस समय राजनीति में हाशिए पर डाल दिये गये हैं।

इसके अलावा कांग्रेस ने बड़ा पांसा गाजीपुर, मऊ बनारस आदि में मुसलमानों में जनाधार बढ़ाने के लिए वहां के एक अल्पसंख्यक नेता से भी बातचीत चल रही है। सूत्र बताते हैं कि वार्ता बेहद सकारात्मक चल रही है। संभव है कांग्रेस के लिए परिणाम सुखद हो। यदि ऐसा हुआ तो निश्चित ही पूर्वी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस मजबूत होकर उभरेगी।

कांग्रेस महासिचिव विश्वविजय सिंह ने कहा

इस बारे में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पूर्वांचल जोन प्रभारी व आमी नदी के प्रदूषण के खिलाफ बड़ी जंग लड़ने वाले गोरखपुर इंका नेता विश्वविजय सिंह का कहना है कि ऐसे उच्चस्तर के मामलों में पार्टी के नेताओं को जानकारी नहीं रहती। इसलिए वे कुछ बता नहीं सकते, लेकिन इतना जरूर कह सकता हूं कि प्रियंका जी के जुझारूपन से प्रभावित होकर विभिन्न दलों के बहुत से लोग पार्टी में आने के लिए तैयार बैठे है। कुछ कार्यकर्ता तो कांग्रेस ज्वाइन भी कर चुके हैं। राजनीति में कुछ भी असंभव नही है। प्रियंका गांधी जी पूर्वांचल सहित प्रदेश भर में कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए मेहनत कर रही हैं।

 

(938)

Leave a Reply


error: Content is protected !!