ज़िला अस्पताल: रिश्वत लेते दलाल को पकड़ने के बावजूद डीएम, एसपी ने उसे छोड़ दिया

September 2, 2015 7:21 pm0 commentsViews: 94
Share news

संजीव श्रीवास्तवsonu

ज़िला अस्पताल में जड़ कर चुकी दलाली का जायजा लेने के लिए डीएम डॉक्टर सुरेंद्र कुमार और एसपी अजय कुमार साहनी बुधवार की सुबह 11 बजे मौके पर पहुंच गए। दोनों अधिकारियों ने यहां एक दलाल को रंगे हाथ रिश्वत लेते हुए पकड़ भी लिया। मगर मजे की बात यह कि बिना किसी कार्रवाई के उसे सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। अफसरों का यह अंदाज बेहद दिलचस्प है। देखना होगा कि सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ देने पर ज़िला अस्पताल में दलाली बंद होती है या नहीं? 

दोनों अफसर अचानक ज़िला अस्पताल पहुंचे। जब वे महिला डॉक्टर संगीता पांडेय के चेम्बर में पहुंचे तो यहां दलाल मौजूद था। दोनों अफसरों ने पाया कि यहां दलाल एक मरीज से 30 रुपए बतौर रिश्वत ले रहा था। मगर अफसरों ने दलाल को सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ दिया। हालांकि डीएम डॉक्टर सुरेंद्र कुमार ने लेडी डॉक्टर संगीता पांडेय को फटकार जरूर लगाई। छापेमारी के दौरान दोनों अफसर सबसे पहले ओपीडी में पहुुंचे थे।

बताया जाता है कि इस छापेमारी की खबर इतनी गुपचुुप थी कि किसी दूसरे अफसर को पता भी नहीं चला। डॉक्टर संगीता पांडेय के चेम्बर में छापेमारी के बाद वे चर्मरोग विशेषज्ञ डॉक्टर मल्ल के चेम्बर में गए। दोनों अफसरों को यहां भी दलाल मौजूद मिले। डॉक्टरों के चेंबर में मजे से बैठे दलालों को देखकर डीएम और एसपी का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। अफसरों ने डॉक्टर मल्ल को भी डांट पिलायी मगर यहां मौजूद दलालों को भी छोड़ दिया गया। सीएमएस डॉक्टर ओपी सिंह ने निरीक्षण के दौरान दलालों के पकड़े जाने की बात स्वीकार की। उन्होंने बताया कि डीएम का फरमान सभी चिकित्सकों तक पहुंचा दिया गया है। अब अगर किसी के चेम्बर में दलाल पाये गये, तो दलाल समेत डॉक्टर की खैर नहीं।

(5)

Leave a Reply


error: Content is protected !!