यात्रीगण कृपया ध्यान दें ! अब इस रेलवे स्टेशन का नाम हुवा सिद्धार्थनगर रेलवे स्टेशन

October 7, 2020 12:44 am0 commentsViews: 326
Share news

आरिफ मकसूद

सिद्धार्थनगर। जिले में नेपाल के करीब 115 साल पहले अस्तित्व में आया नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर अब सिद्धार्थनगर स्टेशन कर दिया गया है। सोमवार को रेलमंत्री पीयूष गोयल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए नए नाम सिद्धार्थनगर रेलवे स्टेशन का लोकार्पण किया। इस दौरान सांसद जगदम्बिका पाल और रेलवे के अधिकारी ऑनलाइन मौजूद रहे।

वीडियो लिंक के माध्यम से सम्बोधित करते हुये रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि नौगढ़ के समीप लुम्बिनी में महात्मा बुद्ध का जन्म होने एवं इस क्षेत्र से उनके जीवन घटनाओं से जुड़े होने के कारण जन-आकांक्षाओं को देखते हुये नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम सिद्धार्थनगर रखा गया। इसके लिये उन्होंने सभी को बधाई दी।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग के द्वारा नौगढ़ से सिद्धार्थनगर रेलवे स्टेशन में परिवर्तित कर लोकार्पण करते रेलमंत्री पीयूष गोयल

यहां बौद्ध तीर्थयात्री काफी संख्या में लुम्बनी के लिये आते है। इस क्षेत्र को यूनेस्को द्वारा वल्र्ड हेरिटेज साइट घोषित किया गया है। खलीलाबाद से बहराइच वाया डुमरियागंज-उतरौला-बलरामपुर-श्रावस्ती 240 किमी. लम्बी नई रेल लाइन निर्माण को स्वीकृति प्रदान की गई है। इस परियोजना के पूरा होने से सन्त कबीर नगर, सिद्धार्थनगर, श्रावस्ती, बहराइच एवं गोण्डा जनपदों के विकास में तेजी आयेगी। रेल मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पिछले छः वर्षों में 460 किमी. नई रेल लाइन निर्माण, 531 किमी. दोहरीकरण तथा 489 किमी. आमान परिवर्तन का कार्य पूरा किया गया। इसी प्रकार 4682 किमी. रेलपथ का विद्युतीकरण भी पूरा किया गया। इससे रेल गाड़ियों को तेज गति से चलाया जा सकेगा तथा पर्यावरण भी संरक्षित रहेगा।

इस अवसर पर सांसद जगदम्बिका पाल ने रेलमंत्री पीयूष गोयल को हार्दिक धन्यवाद देते हुए कहा कि जनआकांक्षाओं को देखते हुए नौगढ़ स्टेशन का नाम सिद्धार्थनगर किया गया। इससे वर्षों से क्षेत्रीय जनता की बहुप्रतिक्षित मांग पूरी हुई। यह क्षेत्र गौतम बुद्ध के बाल्यावस्था की घटनाओं से जुड़ा है। पाल ने कहा कि रेलवे ने लाॅकडाउन के दौरान श्रमिक विशेष गाड़ियां चलाकर प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुॅचाया। पाॅच हजार कोचों को कोविड केयर कोच में परिवर्तित किया गया। खलीलाबाद-बहराइच नई लाइन (240 किमी.) निर्माण को स्वीकृति प्रदान की गयी है। इससे क्षेत्र के चार आकांक्षी जिलों के विकास को गति मिलेगी। इस दौरान उन्होंने क्षेत्रीय जनता की मांगों से रेल मंत्री को अवगत कराया।

इन शहरों के लिए जाती हैं ट्रेनें

सिद्धार्थनगर रेलवे स्टेशन बड़ी लाइन खण्ड पर स्थित होने के कारण सीधी ट्रेन सेवा से गोरखपुर, गोण्डा, लखनऊ, लखीमपुर, कानपुर, दिल्ली, मुंबई, कासगंज, मथुरा, कोटा, बडोदरा, सूरत, झांसी, भोपाल, मुजफ्फरपुर, कटिहार आदि नगरों से जुड़ा हुआ है। वर्तमान में इस स्टेशन से होकर 02571/02572 गोरखपुर-आनंद विहार टर्मिनस-गोरखपुर (सप्ताह में चार दिन) हमसफर विशेष गाड़ी, 05063/05064 गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर साप्ताहिक विशेष गाड़ी, 05065/05066 गोरखपुर-पनवेल-गोरखपुर (सप्ताह में चार दिन) विशेष गाड़ी एवं 05067/05068 गोरखपुर-बांद्रा टर्मिनस-गोरखपुर साप्ताहिक विशेष गाड़ी का संचालन किया जा रहा है।

(297)

Leave a Reply


error: Content is protected !!