कांवेंट विद्यालयों को मात दे रहा राजकीय इंटर कॉलेज, वायस रिकार्डर के साथ सीसी कैमरे की निगरानी में हो रही पढ़ाई

March 1, 2024 2:57 PM0 commentsViews: 384
Share news

दो विज्ञान संग्रहालय समेत कम्प्यूर और ब्यूटीशियन की शिक्षा

बच्चों को स्मार्ट क्लास और जल शोधन प्लांट की दी जा रही सुविधा

अजीत सिंह 

सिद्धार्थनगर। सरकारी विद्यालयों का कायाकल्प कर गुणवत्तायुक्त शिक्षा तथा बेहतर माहौल तैयार करने के क्रम में जिला मुख्यालय स्थित राजकीय इंटर कालेज नौगढ़ किसी कान्वेंट स्कूल से कम नहीं है। वायस रिकार्डर के साथ सीसीकैमरे की निगरानी में पढ़ाई हो रही है। अलग-अलग दो विज्ञान संग्राहलय के संचालन के साथ ही स्मार्ट क्लास समेत बच्चों को कम्प्यूटर और ब्यूटीशियन की शिक्षा को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकारी स्कूलों में जीआईसी पहला विद्यालय होगा, जहां जल शोधन प्लांट की स्थापना की गई है।

वर्ष 2017 से कक्षा छह से 12 तक के लिए संचालित राजकीय कन्या इंटर कॉलेज नौगढ़ की स्थिति शुरूआती दौर में बेहतर नहीं रही। एक तरफ जहां छात्रों की संख्या कम, कार्यवाहक प्रधानाचार्य के भरोसे स्कूल संचालित हो रहा था, वहीं दूसरी तरफ शिक्षकों और बच्चों के लिए आवश्यकतानुसार सुविधाएं भी नगण्य थी। धीरे-धीरे समय बढ़ता गया तो विद्यालय की दशा भी सुधर रही है।

बीते 21 अक्तूबर 2023 को लोक सेवा आयोग से पीईएस में चयनित दयाशंकर यादव की प्रधानाचार्य के रूप में हुई। इनकी तैनाती के साथ ही विद्यालय की दशा और दिशा बदलने में तेजी आ गई। मौजूदा समय में विद्यालय में वायस रिकार्डर के साथ पांच सीसी कैमरे लगाए गए हैं। इसकी मानीटिरंग प्रधानाचार्य कक्ष से होती रहती है। स्कूल में प्रवेश करते हुए तैनात प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों के बारे में पूरी जानकारी के लिए नाम बोर्ड मिलेगा। खेलकूद के लिए पर्याप्त मैदान की व्यवस्था है। शुद्ध पानी के लिए आरओ लगाया गया है। इतना ही नहीं यहां जल शोधन प्लांट भी लगाई गई है। दो विज्ञान संग्रहालय संचालित है। मौजूदा समय में बच्चों की संख्या 699 है, जबकि इससे पहले संख्या कम थी, अभिभावक यहां नामांकन ही नहीं कराना चाहते थे। अब जुगाड़ लगाना पड़ता है।

बच्चों की संख्या बढ़ने से बन रहा एसीआर
राजकीय इंटर कॉलेज नौगढ़ में प्रत्येक शैक्षिक सत्र में बच्चों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एक अतिरिक्त कक्षा कक्ष का निर्माण कराया जा रहा है। एक अप्रैल से कक्षा कक्ष का संचालन शुरू होने की उम्मीद है।

अभ्युदय कोचिंग सेंटर का भी संचालन
समाज कल्याण विभाग की ओर से संचालित हो रहे अभ्युदय कोचिंग सेंटर का संचालन भी जीआईसी नौगढ़ के भवन में हो रही है। इसका लाभ यहां पढ़ने वाले छात्र-छात्रा भी ले रहे हैं। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए पढ़ाई निशुल्क मिल रही है।

प्रधानाचार्य दयाशंकर यादव ने कहा
राजकीय इंटर कॉलेज नौगढ़ में कार्यभार ग्रहण करने के बाद से आधुनिक सुविधाएं मुहैय़्या कराने के लिए प्रयासरत हूं। सभी शिक्षकों के सहयोग से शैक्षणिक माहौल को बेहतर बनाने के लिए लगा रहता हूं। भविष्य में और बेहतर माहौल देने का प्रयास करेंगे।

Leave a Reply