9 मार्च से हड़ताल को लेकर संघर्ष समिति के चेयरमैन ने भरा जिला पदाधिकारियों में जोश

March 3, 2016 3:29 PM0 commentsViews: 80
Share news

संजीव श्रीवास्तव

सिद्धार्थनगर के एक होटल कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारियों से विचार–विमर्श करते संघर्ष समिति के चेयरमैन

 कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारियों से विचार–विमर्श करते संघर्ष समिति के चेयरमैन

सिद्धार्थनगर। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद संघर्ष समिति के चेयरमैन शिवचरन यादव ने राज्य सरकार पर कर्मचारी विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि यह सरकार कर्मचारियों को आराम से उनका हक देने वाली नहीं है। अपना हक लेने के लिए कर्मचारियों को सरकार को अपनी ताकत का एहसास कराना होगा। इसलिए जरुरी है कि सभी कर्मचारी 9 मार्च से प्रस्तावित हड़ताल को सफल बनाने में शत-प्रतिशत योगदान दें।

संघर्ष समिति के चेयरमैन शिवचरन यादव गुरुवार को एक होटल में राज्य विभिन्न कर्मचारी संगठनों के जिला पदाधिकारियों के साथ हड़ताल की तैयारी को लेकर समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अपनी तमाम मांगों को लेकर राज्य कर्मचारी अनेक बार आंदोलन कर चुके हैं, मगर सरकार की ओर से सिर्फ आश्वासन ही मिला।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारी विरोधी है। इसका प्रत्यक्ष मिसाल कर्मचारियों की समस्याओं पर उसका नकारात्मक नजरिया है। अब इस सरकार को कर्मचारियों की एकता का एहसास कराना होगा। इसके लिए सूबे के कर्मचारियों को एकजुट होकर 9 मार्च से शुरु होने वाले हड़ताल को सफल बनाना होगा। उन्होंने संगठनों के पदाधिकारियों से कहा कि यह हड़ताल सभी कर्मचारियों की आन मान और सम्मान से जुड़ा है। इसीलिए इसे सफल बनाने के लिए सभी को अपना सबकुछ झोंक देना चाहिए।

इस अवसर पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष अनिल सिंह, भूपेश शुक्ला, कुष्ठ कर्मचारी संघ के शहाबुददीन, फार्मासिस्ट एसोसियेशन के जिलाध्यक्ष वाई.पी.यादव, मंत्री गोविंद ओझा समेत अरुण प्रजापति आदि की उपस्थिति रही।

Leave a Reply