फिर विवादों में फंसे चेयरमैन, विधायक पर लगाया घिनावना आरोप, सैयदा बोलीं-वे भाईचारे के दुश्मन

November 28, 2023 1:30 PM1 commentViews: 479
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। रामकथा कार्यक्रम में शिरकत करने वाली मुस्लिम विधायक के विरोध में कार्यक्रम स्थल को गंगाजल से पवित्र करने वाले नगर पंचायत बढ़नी चाफा के चेयरमैन धर्मराज वर्मा एक बार फिर विवादों में फंस गये हैं। इस बार उन्होंने सपा की महिला विधायक सैयदा खातून पर प्रतिबिधित जानवर का मांस खाने का आरोप लगा कर मंदिर पवित्रीकरण विवाद को और हवा दे दे दिया है।  इसी के साथ एक बालिका के साथ अभद्र आचरण करने पर पड़ित परिवार ने कार्रर्वाई न होने पर जान देने की धमकी दे दी है।जिसकी जांच का आदेश पुलिस अधीक्षक ने दे दिया है।

कार्यक्रम स्थल के शुद्धिकरण के लिए नारे लगााते हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ता

इस बार क्या बोले  चेयरमैन

बताया जाता है कि धर्मराज वर्मा ने गत दिवस यह सफाई देकर कि सपा विधायक प्रतिबंधित पशु का मांस खाती हैं, इसलिए उन्हें कार्यक्रम स्थल को गंगाजल और पंचगव्यसे शुद्ध करना पड़ा। उनके इस बयान से जिले के धर्मनिरपेक्ष समाज और मुस्लिम तबके में बेहद क्षोभ है। लोग इसको माहौल गर्म करने का कार्य भी मान रहे।

सैयदा ने जवाब क्या  दिया

दूसरी तरफ चेयरमैन के इस बयान को साम्प्रदायिक और भड़काऊ बताते हुए विधायक सैयदा खातून ने कहा कि उन पर यह उएक घृणित बयान है। वह एक सामाजिक और राजनीतिक महिला हैं। वो इस तरह के आसामाजिक और गैरसंवैधानिक आचरण कैसे कर सकती हैं। वास्तव में इस प्रकार के आरोप भारत के भाईचारे को विभाजित करने वाले हैं।
उल्लेखनीय हैकि गत शनिवार को भवानीगंज थाने के ग्राम बलुआ-भड़रिया के समय माता स्थल पर आयोजित रामकथा में आयोजकों के बुलाने पर सपा विधायक सैयदा खातून गई गईं थी।

उसके बाद कुछ हिंदूवादी संगठनों ने रविवार को उक्त स्थल को गंगाजल और पंचगव्य के सहारे शुद्धिकरण का काम किया था। परन्तु उनके इस कृत्य का क्षेत्र के कुछ हिंदु धर्मगुरुओं ने विरोध किया था। तभी से यह घटना समूचे जिले में चर्चा का विषय बनी हुई है।

चेयरमैन पर छेड़खानी का भी आरोप लग रहा

एक अन्य प्रकरण के मुताबिक भवानीगंज थाना क्षेत्र के नगर पंचायत बढ़नीचाफा के चेयरमैन पर एक किशोरी ने घर में घुसकर छेड़खानी और मारपीट करने के साथ ही दुपट्टा खींच लेने का आरोप लगाया है। पीड़िता का यह भी आरोप है कि स्थानीय पुलिस ने कार्रवाई के बजाय उल्टा थाने में बैठा लिया। पीड़िता अपने पिता के साथ सोमवार को पुलिस कार्यालय पहुंचकर शिकायत करते हुए कार्रवाई करने की मांग की है।

एसपी ने दिया जांच का आदेश

एसपी ने भवानीगंज पुलिस को मामले की जांच करके कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। वहीं, चेयरमैन धर्मराज वर्मा ने आरोप को निराधार बताया है। तहरीर के अनुसार यह घटना दो दिन पहले की है।

इस बारें में पीड़िता का कहना है कि 25 नवंबर की घटना को लेकर थाने गई तो उल्टा बैठा लिया गया। देर शाम होने पर घर जाने दिया गया। पुलिस इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। ऐसे में यदि आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई तो जहर खाकर आत्महत्या कर लूंगी। जबकि थानाध्यक्ष ने आरोप फर्जी है। फिर भी वे इस मामले की जांच कर कार्रवाई करेंगे।

 

 

 

Leave a Reply