आशिक के साथ मिल कर अफसाना ने किया था शौहर का कत्ल? दोनों गिरफ्तार

October 29, 2022 1:26 pm0 commentsViews: 592
Share news

कठेला के नईम मर्डर मिस्ट्री का हुआ खुलासा, बीवी के इश्क में बाधा बना हुआ था शौहर नईम, अवैध सम्बंधों बाधा बना तो देनी पड़ी जान 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। कठेला पुलिस ने नईम उर्फ रमजान अली मर्डर मिस्ट्री को सुलझा लिया है। हत्या  का संदिग्ध माना जाने वाला यह केस दरअसल सुनियोजित मर्डर था, नईम उर्फ रमजान अली का कत्ल किसी और ने नहीं बल्कि खुद उसी की बीवी अफसाना खतून ने अपने आशिक के साथ मिल कर किया था और पूरे मामले को एक हादसे का रूप दे दिया था। पलिस अधीक्षक का दावा है कि शौहर नईम पत्नी रुखसाना के प्रेम में बाधा बन रहा था, इसलिए अपने आशिक के साथ मिलकर रुखसाना ने उसे मौत के घाट उतार दिया और गुमशुदगी का केस दर्ज कराने का नाटक किया। पुलिस ने हत्यारोपी पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।  ।

पुलिस लाइन सभागार में प्रेस कांफ्रेस में एसपी अमित कुमार आनंद ने बताया कि मिश्रौलिया थाना क्षेत्र के गौरडीह गांव के टोला चौधरीडीह गांव निवासी नईम उर्फ रमजान की 24 अक्तूबर को गुमशुदगी का केस दर्ज कराया गया था। 27 अक्तूबर को कठेला समय माता थाना क्षेत्र के सौरहवा ग्रांट के सिवान में खेत में उसका शव मिला था। पुलिस टीम मामले की छानबीन में जुट गई। जांच में पाया गया कि नईम की हत्या में उसकी पत्नी का हाथ है। हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की गई।

बताया गया है कि 28 साल की रुखसाना का कठेला गर्वी गांव के टोला पंडितपुरवा निवासी तूफेल से अवैध संबंध चल रहा था। पति नईम इसमें बाधा बन रहा था। वह अक्सर उसे डांटता फटकारता रहता था। बताते हैकि इससे तंग आकर रुखसाना ने प्रेमी से मिल कर अपने शौहर नईम को जान से मार देने की योजना बनाई।

पलिस के मतबिक योजना के तहत, 23 अक्तूबर की रात रुखसाना ने शौहर नईम के खाने में जहर मिला कर उसको मार डाला। इसके बाद प्रेमी के सहयोग से बाइक पर शव को रख कर रात में खेत में फेंक आयी। किसी को शक न हो, इसलिए ससुराल जाने की बात कहकर उसने कठा थाने में नई की गुमशुदगी का केस दर्ज करा दिया।

बाद में हत्या की शंका होने तथा रुखसाना और तुफैल के बीच अवैध सम्बंधों की जानकारी मिलने पर पलिस ने दोनों पर शिकंजा कसा। सती से पूछताछ करने पर दोनों ही टूट गये और उन्होंने कत्लकिये जाने की घटना स्वीकार करते हुए उसका कारण भी बतादिया।  इस प्रकार थानाध्यक्ष कठेला सतीश कुमार सिंह की अगुवाई में गठित टीम ने दोनों को दबोच लिया, जहां से दोनों को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया, फिर उन्हें जेल भेज दिया गया।

(567)

Leave a Reply


error: Content is protected !!