डुमरियागंजः युवती से दुष्कर्म अथवा मामला अवैध सम्बंध और ब्लैकमेलिंग का?

June 24, 2024 12:25 PM0 commentsViews: 1170
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज थाना क्षेत्र के एक गांव में एक महिला से कथित दुष्कर्म के मामले में रविवार को पुलिस द्धारा मौके पर मौजूद दो युवकों में से एक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने तथा दूसरे को छोड़ देने का मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। घटना के हालात को देखते हुए मामला कुछ रहस्यमय लगने लगा है।

क्षेत्र के एक गांव के एक युवक ने अपने परिचित की एक विवाहित महिला को बृहस्पतिवार रात फोन कर कुछ जरूरी बात के सिलसिले में बाग में बुलाया था।  तहरीर के अनुसार जब युवती बाग में पहुंची तो युवक के साथ उसका साथी भी मौजूद था। इसके बाद दोनों ने युवती को पकड़ कर उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों युवक वहां से भाग गए। युवती बाग में बेहोश पड़ी थी। जब युवती को देर रात होश आया तो वह बाग में बुलाने वाले युवक के घर पहुंच गई। जहां मामले को बताने पर युवक के घर वालों ने उसे मारना पीटना शुरू कर दिया। इस बीच युवती ने डायल-112 नंबर डायल पुलिस को फोन कर बुला लिया। सूचना पाते ही तत्काल मौके पर पुलिस पहुंच गई। इसके बाद युवती को थाने ले आया गया।

थाने पर लाने के बाद युवती के परिजनों को पुलिस ने सूचना दी। इसके बाद युवती के मायके और ससुराल वाले भी पहुंच गए। शुक्रवार को पुलिस टीम घटनास्थल और गांव में भी जाकर पूछताछ कर आरोपी की तलाश में जुट गई। पीड़िता ने शनिवार शाम को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने एक आरोपी पर दुष्कर्म का केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है तथा दूसरे युवक को बरी कर दिया।

मामला यहीं से संदिग्ध प्रतीत होता है। गांव के वातावरण में कोई भी औरत रात के दस बजे किसी परिचित के बुलाने पर गांव से बाहर आम तौर से नहीं जा सकती और यदि जाती भी है तो अकेले नहीं जाती। गांव में यह भी चर्चा है कि उक्त महिला का युवक से पहले ही सम्बंध था। संभवतः घटना की रात कोई बात बिगड़ गई जिससे इसे दुष्कर्म का रूप दे दिया गया।

दूसरी तरफ इस प्रकरण में मुकदमा लिखे जाने के तरीके को लेकर भी पुलिस पर अंगुली उठ रही है। डुमरियागंज के एक अधिवक्ता का कहना है कि यदि महिला के साथ दुष्कर्म हुआ है तो एक युवक को छोड़ा कैसे जा सकता है। क्योंकि कानून की नजर में अपराध न करने के बावजूद अपराधी के साथ रहने वाला व्यक्ति भी जुर्म का भागीदार माना जाता है। ऐसे में पुलिस उसे बरी कैसे कर सकती है।

इस सम्बंध में जानकारों का कहना है कि मामला दुष्कर्म के अलावा अवैध सम्बंधों और ब्लैक मेलिंग का भी  हो सकता है। इस बारे में डुमरियागंज थाना प्रभारी रमेश यादव ने मीडिया को बताया कि उन्हें घटना की जानकारी है। तहरीर के आधार पर एक आरोपी पर केस दर्ज किया गया है, दूसरा युवक केवल साथ में  गया था। इसलिए उस पर केस दर्ज नहीं किया गया है।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply