छः माह से न्याय के लिए भटक रही रेप पीड़ित लड़की

November 4, 2016 12:18 pm0 commentsViews: 173
Share news

एस.पी. श्रीवास्तव

 

rape
महाराजगंज। दुष्कर्म पीड़िता को छह माह बाद भी न्याय नही मिला। माता-पिता के साथ नाबालिग लड़की थानाध्यक्ष, सीओ, एएसपी व एसपी की चौखट पर मत्था टेक चुकी है, पर उसी फरियाद नही सुनी जा रही है। परिजनों ने बृजमनगंज थानाध्यक्ष पर दुष्कर्मियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।
जानकारी के अनुसार बृजमनगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में बीते चार अप्रैल की शाम करीब आठ बजे सहेली के साथ शौच को गयी 14 वर्षीय लड़की को गांव के ही तीन युवकों ने पकड़ लिया। तीनों ने उसे जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म किया। लड़की के शोर मचाने पर आरोपी भाग निकले। इस मामले में बृजमनगंज थाने की पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म की धारा में मुकदमा दर्ज किया। मेडिकल जांच में भी दुष्कर्म की पुष्टि हुई।
पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर मिले दुष्कर्म पीड़िता के पिता राम बचन ने बताया कि कोर्ट में थाना पुलिस ने 164 के तहत पीड़िता का बयान कराया। कलमबंद बयान में बेटी ने कहा कि चार अप्रैल की रात आठ बजे गांव के बाहर राम कैलाश, वीरेन्द्र व राधेश्याम मिले। जान से मारने की धमकी देकर राधेश्याम ने दुष्कर्म किया।
इस बयान के बाद भी बृजमनगंज पुलिस अभियुक्तों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने थानाध्यक्ष पर अभियुक्तों को संरक्षण देने का आरोप लगाया और कहा कि पुलिस संरक्षण प्राप्त अभियुक्त दबाव बना रहे है। उनका कहना है कि मुकदमा वापस न लेने पर लड़की की हत्या करा देंगे।
इस बारे में पुलिस अधीक्षक का कहना है कि दुष्कर्म पीड़िता को न्याय मिलेगा। नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म करने वालों की गिरफ्तारी शीघ्र होगी। इसके लिए बृजमनगंज थाना प्रभारी को तीन दिन के भीतर अभियुक्तों की गिरफ्तारी को निर्देश दिया है।

(3)

Leave a Reply


error: Content is protected !!