मोटरसाईकिल से बारात जा रहे युवक ट्रैक्टर ट्राली से भिड़े, दो की मौत, एक की हालत गंभीर

May 4, 2018 4:13 pm0 commentsViews: 1191
Share news

—  बांसी मार्ग पर आये दिन होते हैं एक्सीडेंट, अब तक हो चुकी हैं दर्जनों मौतें, सरकार और प्रशासन कानों में तेल डाल कर बैठा है

 

नजीर मलिक

पोस्ट मार्टम हाउस पर शोक ग्रस्त ग्रामीणों के साथ पूर्व विधायक विजय पासवान

सिद्धार्थनगर। बाती रात नौगढ़-बांसी एनएच मार्ग रात गुरुवार रात लगभग 9-30 बजे मोटर साअकिल और ट्रैक्टर ट्राली`में टक्कर हो जाने से दो नौजवानों की मौके पर मौत हो गई तथा एक गंभीर हालत में मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। तोनों नौजवान एक ही बाइक पर सवार हो कर बारात में जा रहे थे। दुर्घटना का कारण टूटी सडक पर वाहन का असंतुलित होना बताया जाता है।

बताया जाता है कि बीती रात तीन नौजवान मोटरसाईकिल से सवार होकर जोगिया में  बारात में शामिल होने जा रहे थे। चश्मदीदों के अनुसार अभी वह  जोगिया थाना से थेड़ दूर ही थे कि  क्षेत्र के मसिना गांव के पास विपरीत दिशा से आ रही ट्रैक्टर ट्राली से सीधी टक्कर हो गयी। जिसमें मोटरसाईकिल चालक सहित दो की मौके पर दर्दनाक मौत हो गयी और पीछे बैठा युवक बुरी तरह से जख्मी हो गया। जख्मी को जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत गम्भीर देखते हुए चिकित्सकों ने मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। जहां उसकी हालत चिंताजनक बतायी जाती है।

मिली जानकारी के अनुसार सदर थाना क्षेत्र के कुसभौना के टोला बरदगवा निवासी धर्मेन्द्र पुत्र अमेरिका उम्र 16 साल, उमेश कुमार यादव पुत्र ईश्वर दयाल उम्र 26 साल, पप्पू यादव पुत्र रविन्द्र कुमार यादव उम्र 20 साल एक ही बाइक पर यवार होकर मोटरसाईकिल पर सवार होकर गांव से जोगिया गांव  के लिए निकले।

बताते हैं कि अभी वह नौगढ़ बांसी मार्ग स्थित मसिना गांव के के पास पहुंचे ही थे कि रात लगभग साढ़े नौ बजे विपरीत दिशा से आ रही ट्रैक्टर ट्राली से सीधी टक्कर हो गयी। जिसमें मोटरसाईकिल चालक उमेश यादव व उसके पीछे बैठा धर्मेन्द्र घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया। मोटरसाईकिल पर सबसे पीछे बैठा पप्पू यादव बुरी तरह से जख्मी हो गया। इसे लाद फानकर जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया जहां चिकित्सको ने उपचार के बाद मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया जहां उसकी हालत गम्भीर बनी हुई है।

जिला चिकित्सालय पर पहुंचे मृतको के परिजनो का रो रो कर बुरा हाल है। धर्मेन्द्र का पिता अमेरिका ने बताया कि मेरा पुत्र जो अभी कक्षा 7 का छात्र है। बारात जा रहा था। इसी क्रम मे उमेश यादव उम्र 26 साल पांच बच्चों का बाप बताया जाता है। उसके पिता जीविकोपार्जन के लिए बाम्बे में रहते है। अब पांच बच्चों के सर से पिता का साया हट गया। अमेरिका ने बताया कि मेरे पास तीन बेटा है जिसमें धर्मेन्द्र सबसे छोटा  पुत्र था और पढ़ने में काफी होशियार था। किन्तु ईश्वर को क्या मंजूर है कब किसकी मौत कहां जाय इसको कौन जान सकता है। घर से निकले थे बारात के लिए और उनकी अर्थी निकल गयी।

कत्लगाह बन गई है नौगढ़-बांसी रोड

बता दें कि सिद्धार्थनगर-बस्ती मार्ग का मुख्यालय से बांसी का हिस्सा टूट फूट चुका है। इसमें बडे बड़े गड्ढे बन चुके हैं, जिन में गिर कर वाहन असंतुलित होक दुर्घटनाग्रस्त होते रहते हैं। रात में ही बाइक के हिचकोले खाकर असंतुलित होने से ही यह घटना घटी। इस मार्ग पर अब तक दर्जनों मौतें हो चुकी हैं, लेकिन शासन व प्रशासन के कानों पर जू नही रेंग रही है।  सूत्रों का कहना है कि अभी एक साल तक इस सड़क के बनने के कोई आसार नही हैं, तब तक इस रोड पर न जाने कितने लोगों को जान से हाथ घोना पड़ेगा।

लापरवाही पर बिफरे पूर्व विधायक पासवान

दोनों मौतों की खबर पाकर पोस्टमार्ट हाउस पर पहुंचे सपा नेता व सदर क्षेत्र के पर्व विधायक विजय पासवान ने पीड़ित परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने मौके पर माजूद पत्रकारों से बातचीत में शासन प्रशासन पर जम कर गुस्सा निकाला और कहा कि इतने भीषण हादसे के बाद भी प्रशासन कानों में तेल डाल कर बैठा है। मरने वाले गरीब घर के थे, उनके लिए प्रशासन को आर्थिक मदद जरूर देना चाहिए था।

उन्होंने शासन से दोनों मृतक परिवारों के लिए बीस लाख की आर्थिक मदद की मांग किया और  आरोप लगाया कि तीन साल में दो दर्जन मौतों के बाद भी सड़क नही बन पा रही। आखिर जिम्मेदार क्या कर रहे हैं। उन्होंने भाजपा सांसद जगदम्बिका पाल से भी कहा कि उन्हें जनता को बताना चाहिए कि अखिर उनकी सरकार यह सड़क कब तक बनवायेगी?

 

 

 

(1015)

Leave a Reply


error: Content is protected !!