ठेकेदार के घर डकैती के बाद पुलिस मुठभेड़, दारोगा व एक डकैत जख्मी, 9 बदमाश गिरफ्तार

February 22, 2016 2:04 PM3 commentsViews: 1907
Share news

अजीत सिंह

 

इनकाउंटर में घायल स्वाट टीम इंचार्ज अनूप शुक्ला और उन्हें देखने अस्पताल पहुंचे एसपी अजय कुमार साहनी

इनकाउंटर में घायल स्वाट टीम इंचार्ज अनूप शुक्ला और उन्हें देखने अस्पताल पहुंचे एसपी अजय कुमार साहनी

सिद्धार्थनगर। जिला हेडक्वार्टर के वरिष्ठ ठेकेदार ओम प्रकाश चौबे के घर बीती सोमवार की रात हथियारों से लैस डकैतों ने हमला बोल कर उनकी लाइसेंसी रिवाल्वर व नकदी-जेवरात मिलाकर 5 लाख की लूट पाट की, लेकिन, घटना के तीन घंटे के भीतर जेम्सबांड स्टाइल की तलाश के दौरान पुलिस व डकैतों में मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में एक दारोगा बुरी तरह से जख्मी हुए और एक बादमाश को भी गोली लगी।

पुलिस ने डकैतों को पकड़ कर रिवाल्वर, नकदी व जेवर आदि सारा माल बरामद कर लिया। इस सनसनीखेज घटना में पकड़े गये डकैत कानपुर देहात के रसूलाबाद थाना के छीपीपुर के रहने वाले हैं। इनमें एक पचास हजार, एक पर 25 और एक अन्य पर 10 हजार का इनाम भी है।

मीडिया से बात करते पीड़ित ठेकेदार ओम प्रकाश चौबे

मीडिया से बात करते पीड़ित ठेकेदार ओम प्रकाश चौबे

बदमाशों के दल रात ने रात 11 बजे विकास भवन और भीमापर गेट के बीच मुख्य सड़क पर जिले के वरिष्ठ ठेकेदार ओमप्रकाश चौबे के घर धावा बोला। बदमाश चारदीवारी फांद कर उनके परिसर में गये और अपने को पुलिसवाला बता कर दरवाजा खुलवाया। उस समय ठेकेदार चौबे अपने घर में अकेले थे। परिवार रिश्तेदारी में गया हुआ था।

दरवाजा खुलते ही दो बदमाशों ने ठेकेदार को पकड़ लिया और एक ने उनके माथे पर रिवाल्वर रख दी। डकैत उन्हें अंदर के कमरीे में ले गये। बाकी 6 ने आराम से उनके घर का एक एक कमरा छाना और घर में रखे 15 हजार नकद, तकरीबन तीन लाख के जेवर व उनकी पिस्टल छीन कर उन्हें एक कमरे में बंद कर दिया। बदमाश जाते जाते उनका मोबाइल भी ले गये। लेकिन एक मोबाइल वह मौके पर ही छोड़ गये।

दूसरे मोबाइल से उन्होंने पुलिस को फोन किया और पुलिस कप्तान अजय कुमार साहनी ने पूरे जिले की नाकाबंदी कर दी। पुलिस का मानना था कि बदमाश भागने के लिए ट्रेन पकड़ सकते हैं। इस विचार के तहत उन्होंने नौगढ़ और अहिरौली रेलवे स्टेशन की घेरेबंदी की।

खबर के मुताबिक एसपी अजय कुमार साहनी की लीडरशिप में अहिरौली स्टेशन के करीब पिपरा नायक गांव के पास लगभग ढाई बजे रात में कुछ संदिग्ध दिखे। पुलिस के आवाज देने पर उन्होंने फयरिंग शुरू कर दी। गोलियों के आदान प्रदान में स्वाट टीम के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर अनूप शुक्ल के कंधे पर गोलियां लगीं। इस दौरान शौकत नामक डकैत भी घायल हो गया।

शौकत के गिरते ही पूरे गिरोह ने आत्म समर्पण कर दिया। पुलिस ने उनके पास से लूट का सारा माल बरामद कर दिया। समाचार लिखे जाने तक पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने बताया है कि वह आज शाम चार बजे बदमाषों पूछताछ के बाद पूरे मीडिया से पूरे घटनाक्रम का खुलासा करेंगे।

पकड़े गये बदमाशों के नाम

1-कलीम उर्फ सल्लू पुत्र शौकत 2-रहीम पुत्र मंसूर 3-साबिर पुत्र मंसूर 4-अजय पुत्र राजेश सिंह 5-टुइन पुत्र साबिर 6- शानू पुत्र राशिद 7-शहवेज पुत्र अयूब 8- मोइन पुत्र नसीफ 9- आमिर पुत्र नफ्फू। सभी बदमाश ग्राम छीपी जिला कानपु देहात के हैं और उन पर लूट और डकैतियों के दर्जनों में दर्ज हैं।

3 Comments

Leave a Reply