नगर पंचायत अध्यक्ष के पति व पुत्र पर गंभीर आरोप, न्याय न मिलने पर आंदोलन की धमकी

May 29, 2018 3:53 pm0 commentsViews: 751
Share news

 — नगर पंचायत शोहरतगढ़

 

निजाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। नगर पंचायत शोहरतगढ़ के कई सभासदों व अन्य ने एक प्रेस कान्फ्रेंस में स्थानीय नगर पंचायत अध्यक्ष के पति/ प्रतिनिधि व उनके पुत्र पर पर कई गंभीर आरोप लगाया है, जिसमें फर्जी मुकदमें में फंसा कर जेल भिजवाने की बात शामिल है। सारा विवाद एक टेंडर को लेकर है, जो नियम विरूद्ध बताया जा रहा है।

सभासदो मनोज गुप्ता,नियाज, सभासद प्रतिनिधि अफसर अंसारी, अशरफ अंसारी,अवधेश आर्या ने संयुक्त रूप से प्रेसवार्ता में कहा है कि बीते 22 मई को को नगर पंचायत की तरफ  से नगर में विभिन्न विकास कार्यो को लेकर कुछ समाचार पत्रो में लगभग 21 लाख का टेण्डर जारी किया गया ।इसकी सूचना मिलते ही सभासद आक्रोशित हो उठे। उन्होंने आरोप लगाया क़ि टेण्डर , सभासदों को बिना विश्वास में लिए उनकी बिना सहमति और बिना जानकारी के मनमाने तरीके से जारी किया गया जबकि जारी किया गया टेण्डर पुरानी कार्यकारणी का है जो कि भंग हो चुकी है और नई कार्यकारणी का गठन हो चुका है। विगत 22 जनवरी को नगर पंचायत के बोर्ड की पहली बैठक में सभी सभसदो में आपसी सहमति से पुराने कार्यकारणी के सभी प्रस्तावों को खारिज कर दिया गया था और नए प्रस्ताव के आधार पर कार्य करने की सहमति बनी थी मनमाने  तरीके से पुराने कार्यो के लिए टेन्डर ज़ारी कर दिया गया और अपने चहेते ठेकेदारों का लाइसेन्स नवीनीकरण कर उन्हें ठेके देने की तैयारी हो रही है।

सभासदों ने नगरपंचायत कार्यालय से इस बाबत जानकारी मांगी तो कार्यालय द्वारा इंकार कर दिया और नगर पंचायत अध्यक्षा से सम्पर्क करने को कहा ।जब सभासदों ने अध्यक्षा और उनके प्रतिनिधि पति से सम्पर्क किया तो वहाँ भी उन्हे संतुष्ट नहीं किया गया। जिससे सभासद लामबंद हो गए और दस में से नौ सभसदों का हस्ताक्षर व मुहर किय हुआ शिकायती पत्र मनोज कुमार व नियाज समेत चार सभासद जिलाधिकारी को ज्ञापन देने जिलाधिकारी कार्यालय पहुँचे।

जहां पहले से मौजूद नपं अध्यक्ष प्रतिनिधि व हिन्दू युवा वाहिनी के देवी पाटन मण्डल प्रभारी सुभाष गुप्ता व पुत्र सौरभ गुप्ता अपने कई समर्थकों के साथ सभासदों के साथ अभद्रता करते हुए फर्जी मुकदमों में फंसाने की धमकी दी।  जिलाधिकारी से मिलने से रोकने का प्रयास किया परन्तु जिलाधिकारी कार्यालय पर मौजूद सुरक्षा कर्मियो ने चारों सभासदों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

सभासदों के आरोप के मुताबिक सुभाष गुप्ता अपनी सरकार होने और प्रदेश के मुखिया का भक्त होने की धौस देते हुए देख लेने की धमकी  देते हुए जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर डटे रहे।

अंतत: सभसदो ने जिलाधिकारी को  ज्ञापन सौपा और भयभीत सभासदों ने एडीशनल एसपी पूरे मामले की जानकारी देते हुए  सुभाष गुप्ता ,उनके पुत्र  सौरभ गुप्ता तथा उनके अज्ञात पार्टी समर्थको के खिलाफ  लिखित शिकायती पत्र देकर कार्यवाही किये जाने की मांग की। प्रेसवार्ता के दौरान सभासदों ने कहा कि आरोपियों पर कार्यवाही न किये जाने पर नपा कार्यालय पर सभासदों द्वारा धरना प्रदर्शन किया jayega

 

(626)

Leave a Reply


error: Content is protected !!