टिकट को लेकर सदर विधायक विजय पासवान ने निकाला विजय जुलूस, प्रतिद्धदंदी सकते में

January 3, 2017 3:35 pm0 commentsViews: 681
Share news

नजीर मलिक

2525

सिद्धार्थनगर। लखनऊ में कई दिनों से डेरा डाले सदर विधायक पासवान वहां से टिकट का ठोस आश्वासन मिलने के बाद सिद्धार्थनगर लौट आये और विशाल  जुलूस निकाल कर पूरे इलाके का दौरा किया। उनके जुलूस का कफिला ऐतिहासिक रहा।

आज दोपहर दो बजे उनका लगभग दो किमी लम्बा जुलूस उनके कैम्प कार्यालय पकड़ी से रवाना हुआ। जुलूस बर्डपुर, मोहाना, लोटन, सोहास, उसका होते हुए मुख्यालय पहुंचेगा। चार पहिया व दो पहिया वाहनों के इस जुलुस में मुलायम, अखिलेश और आजम खां के लिए नारे लग रहे थे। खुद विधायक विजय पासवान मालाओं से लदे एक खुले वाहन पर चल रहे थे।

दरअसल सपा द्धारा जारी लिस्ट में उनका नाम नहीं था। खबर थी कि एक बडे नेता के दबाव में उनका नाम घोषित नहीं किया गया था। बाद में अखिलेश यादव की संशोधित लिस्ट में भी उनका नाम गायब था। इससे यह तय होगया था किउिनका टिकट खतरे में हैं। उसके बाद वे लखनऊ पहुच गये थे।

इस समय जब सपा आपसी कलह से जूझ रही है, तो ऐसे में विजय पासवान का यह कफिला काफी संकेत देता हैं। जाहिर है कि वह सपा के दोनों खेमों से टिकट का ठोस आश्वासन मिलने के बाद ही इस प्रकार का सार्वजनिक शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं।

जुलूस में बेचन चौधरी, चन्द्रजीत यादव, चन्द्रमणि यादव, अब्दुल कलाम सिद्दीकी, अमून मेकरानी आदि शामिल रहे।

क्या था टिकट का षडयंत्र

 बता दें कि गत चुनाव में विधायक विजय पासवान कपिलवस्तु सीट से भाजपा को लगभग ४० हजार वोट से हरा कर जीते थे। इतनी विशाल जीत के बाद एक नेता के विरोध के कारण उनका टिकट खतरें में पड गया। बताते हैं कि उक्त नेता ने उनके मुकाबले एक अन्य व्यक्ति से टिकट की दावेदारी करा दी और उसकी पैरवी करने लगे। इससे विधयक विजय पासवान काफी परेशान चल रहे थे।

बहरहाल उनकी कोशिशें रंग लाईं और सपा के दोनों खेमों से उन्हें कल हरी झंडी मिल गई। इस नये फैसले से उनका प्रतिद्धंदी खेमा परेशान है और अब उसकी समझ में नहीं आ रहा कि आगे की रणनीति वह किस प्रकार बनाये। फिलहाल विधायक के खेमे में जोश व खुशी की लहर है।

(4)

Leave a Reply


error: Content is protected !!