मजदूर, किसान, नौजवान और संविधान की विरोधी है यह सरकार- विजय पासवान

September 10, 2018 3:45 pm0 commentsViews: 296
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर । समाजवादी पार्टी के नेताओं ने कहा है कि सत्ता के नशे में भाजपा सरकार संवेदनशून्य हो गई है। उत्तर प्रदेश सहित समूचे देश के ध्वस्त कानून व्यवस्था पर सर्वोच्च न्यायालय एवं उच्च न्यायालय को टिप्पणी करना पड़ रहा है उसके बावजूद भी सरकार गूंगी बहरी बनी हुई है।

आज यहां सदर तहसील परिसर में उत्तर प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार बिगड़ती कानून व्यवस्था किसानों पिछड़ों दलितों अल्पसंख्यकों महिलाओं बच्चियों छात्र-छात्राओं तथा महंगाई की समस्याओं को लेकर धरना दे रही थी

धरने को सम्बोधित करते हुए सदर क्षेत्र के पूर्व विधायक विजय पासवान  ने कहा कि इस सरकार में बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के संविधान पर रोज हमले हो रहे हैं ।गरीब, कमजोर, मजदूर, दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यको के साथ घोर अन्याय व अत्याचार हो रहा है।मेहनतकश किसानों के साथ धोखा व सौतेला व्यवहार किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में चौतरफा हत्या जैसी जगह घटनाओं की बाढ़ आ गई है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार बलात्कार की घटनाओं को रोकने में  पूरी तरह विफल है । लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया की स्वतंत्र आवाज को कुचलने का प्रयास किया जा रहा है।

किसान मजदूर नौजवान के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के समय बेरोजगार नौजवानों को रोजगार मिला था उनसे छीना जा रहा है । लाखों रोजगार बेरोजगार दर-दर ठोकरें खा रहे हैं सरकार से रोजगार की मांग करने पर लाठी गोली का शिकार होना पड़ रहा है तथा उन्हें फर्जी मुकदमे लगाकर जेल भेजा जा रहा है।  किसान अपनी फसल का मूल्य मांगने के लिए शांतिपूर्ण ढंग से धरना प्रदर्शन करें तो भी अपमानित होना पड़ रहा है।

धरना दे रहे लोगों में मुख्य रुप से सदर तहसील में पूर्व विधायक विजय पासवान के अलावा जोखन चौधरी, अब्दुल कलाम सिद्दीकी, चंद्रजीत यादव, निजामुद्दीन, रमजान अली, परशुराम यादव, नन्हें दुबे, अशोक पांडे, विजय यादव, मोहम्मद अयूब, चंद्रजीत जयसवाल, रामलाल प्रजापति, शैलेंद्र शर्मा, बाबूराम यादव, दुर्गेश यादव और सतीश चंद्र चौधरी सहित हजारों लोग उपस्थित थे। बाद में सभी ने उपरोक्त बातों से सम्बंधित ज्ञापन को प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को दिया गया।

Leave a Reply