समस्याओं के प्रति जनप्रतिनिधियों की उदासीनता चिंता की बात- राजू पांडेय

September 1, 2015 5:37 PM0 commentsViews: 123
Share news

89अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर के युवा समाजसेवी राजू पांडेय ने कहा है कि जनता सांसद और विधायक इस विश्वास के साथ बनाती है कि ओहदा पाने के बाद वह उनकी समस्याओं को लेकर संसद और विधानसभा में आवाज बुलंद करेगा, मगर आज के जनप्रतिनिधि सम्मान पाने के बाद जन समस्याओं के प्रति उदासीन हो जाते हैं। यह बात चिंतनीय है।

राजू ने मंगलवार को जारी बयान में कहा है कि जिले में सड़क, बिजली और पानी की समस्याएं अर्से से व्याप्त हैं, मगर आज तक के किसी भी सांसद और विधायक ने इसे दूर करने के लिए सार्थक प्रयास नहीं किया। वर्तमान में जिले की सभी सड़कों की हालत बेहद पतली है।

केन्द्र में भाजपा और प्रदेश में सपा की सरकारें हैं और जनपद की एक मात्र संसदीय क्षेत्र से भाजपा के जगदम्बिका पाल और पांच में तीन विधानसभा सीटों पर समाजवादी पार्टी के जनप्रतिनिधियों का कब्जा है। इन विधायकों में इटवा से स्वयं विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय विधायक हैं, मगर वीआईपी होने के बावजूद इस जिले की सड़कें अब चलने लायक नहीं है।
जनप्रतिनिधियों की उदासीनता का इससे सटीक उदाहरण क्या हो सकता हैं कि वे क्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब जनता काफी जागरुक हैं और ऐसे जनप्रतिनिधियों को सबक सिखाने का मन भी बना चुकी है।

Leave a Reply