सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान के वार्षिक अधिवेशन व सम्मान समारोह में कई देशी विदेशी विभूतियां सम्मनित

November 16, 2015 6:46 pm0 commentsViews: 396
Share news

हमीद खान

drbhasker
सिद्धार्थनगर जिले के इटवा बाजार में दिनांक रविवार को ब्लाक संसाधन केन्द्र के प्रांगण में सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान का प्रथम वार्षिक अधिवेशन व सारस्वत सम्मान समारोह सम्पन्न हुआ, जिसमें देश भर के भिन्न-भिन्न प्रान्तों से आये कवियों साहित्यकारों ने भाग लेकर कार्यक्रम को सफल बनाया।

सायंकाल दीप प्रज्जवलन, सरस्वती वंदना व अतिथियों के माल्यार्पण के बाद प्रारम्भ हुए इस कार्यक्रम में सर्वप्रथम सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान, सिद्धार्थनगर के अध्यक्ष व प्रसिद्ध होमियोपैथिक चिकित्सक डा़ भास्कर शर्मा ने अपने स्वागत संबोधन में अतिथियों का अभिनंदन करते हुए संस्था के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान का गठन साहित्य को समाज से जोड़ने के लिए किया गया है।

उन्हानें कहा कि प्रथम अधिवेशन में संस्था को न केवल देश के विभिन्न प्रान्तों के साहित्यकारों,  बल्कि देश के बाहर नेपाल के साहित्यकारों का भी जो स्नेह मिला है, वह उससे अभिभूत हैं। उन्होंने इस कार्यक्रम की निरंतरता को जारी रखने का अपना संकल्प दुहराया और कहा कि आने वाले समय में संस्था की ओर से ऐसे और भी आयोजन किये जायेंगे, जिससे साहित्य को समाज से जोड़ा जा सके।

इसके बाद दिल्ली से पधारे साहित्यकार व कार्यक्रम के संचालक श्री रघुवीर शर्मा ने सम्मानित किये जाने वाले साहित्यकारों का संक्षिप्त परिचय दिया तत्पश्चात सम्मान समारोह प्रारम्भ हुआ। समारोह की अध्यक्षता लखनऊ से पधारे वरिष्ठ साहित्यकार व चित्रकार डा0 राजेन्द्र परदेसी जी ने की।

सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि राज्य उपभोक्ता आयोग, उत्तर प्रदेश लखनऊ के न्यायाधीश व साहित्यकार-गजलकार डा चन्द्रभाल सुकुमार जी व विशिष्ट अतिथि निदेशक, शिक्षा विभाग, सिक्किम सरकार श्री भीम ठाटाल जी थे। इसके अतिरिक्त सम्मान समारोह के दौरान राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षाविद् श्री अष्टभुजा प्रसाद पाण्डेय, वरिष्ठ समाज सेवी व शिक्षाविद् श्री हरिहर सिंह, डुमरियागंज बार एसोशिएशन के अध्यक्ष श्री मलिक इकबाल युसुफ, बस्ती जनपद के वरिष्ठ साहित्यकार श्री सत्येन्द्र नाथ मतवाला, श्री शशि रंजन जी ने मंच पर उपस्थित होकर सम्मानित होने वाले साहित्यकारों का उत्साह बढ़ाया और कार्यक्रम को गरिमा प्रदान की।

इस अवसर पर भारतीय मूल के नेपाली भाषी कवि श्री अमर बानियाँ ‘लोहोरा’ के हिन्दी भाषा में अनूदित काव्य संग्रह ‘भाक्धन तथा अन्य कविताएँ’ का लोकार्पण भी किया गया।   सम्मान समारोह में बाहर से पधारे साहित्यकारों में सुश्री रूपा तमांग, श्री रूद्र अधिकारी (नेपाल), डा0 रीता सिंह सर्जना, (असम),  डा0 रंजीत रवि शैलम (केरल), सुश्री नाजु हातिकाकोती (असम), सुश्री कविता विकास (धनबाद), डा0 ओम प्रकाश कादयान (हिसार) , सुश्री अमृता वर्मा (इलाहाबाद), डा0 एस0 रजिया बेगम, एस0 आर0एम0 यूनिवर्सिटी (चेन्नई), सुश्री भवानी क्षेत्री विर्ता मोड़ झापा (नेपाल), श्री गंडकी पुत्र मोरंग (नेपाल), सुश्री विष्णु तिवारी उषा नारायणगढ़, चितवन (नेपाल), श्री अमर बानियाँ ‘लोहरा’े (सिक्किम), श्री प्रवीण कांबोज व ए0 आर0 पब्लिशिंग कम्पनी दिल्ली के संचालक समाज सेवी श्री शिवानंद तिवारी को प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह व अंगवस्त्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इसके साथ ही स्थानीय लेखकों पत्रकारों व समाजसेवियों में श्री ठाकुर प्रसाद मिश्र (राष्ट्रीय सहारा डुमरियागंज), श्री रवीन्द्र गुप्ता अमर उजाला डुमरियागंज, श्री राशिद फारूकी न्यूज चैनल 24 डुमरियागंज, बलराम त्रिपाठी राष्ट्रीय सहारा इटवा, डा0 निसार अहमद खाँ आज इटवा, श्री धमेन्द्र त्रिपाठी दैनिक जागरण इटवा, श्री शिवकुमार चौबे हिन्दुस्तान इटवा ,डा0 जंग बहादुर चौधरी राष्ट्रीय स्वरूप इटवा,श्री अब्दुल हमीद खान कपिलवस्तु पोस्ट डाट काम इटवा, श्री कमलेश श्रीवास्तव स्वतंत्र चेतना इटवा, श्री कृष्णा लाल यादव इटवा,. श्री रामचन्द्र जी सहाय श्रीवास्तव(एडवोकेट), श्री रमापति सिंह (एडवोकेट), श्री सिराजुद्दीन खां (एडवोकेट), श्री राम विलास यादव, श्री नसीम अहमद खान, चन्द्र शेखर पाठक, डा0 अब्दुल हक, एम0एस0, श्री संदीप अग्रहरी, श्री न्यूज, प्रेस क्लब सिद्धार्थनगर के महामंत्री श्री अंकित श्रीवास्तव (इण्डिया टी0वी0), को भी प्रशस्ति पत्र प्रतीक चिन्ह व अंगवस्त्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से राम सुभग उपाध्याय, नसीम अहमद खां, डा0 सकूर आलम, सत्येन्द्र दूबे, मथुरा जायसवाल, रविन्द्र गुप्त, अम्बिका प्रसाद मिश्र, प्रभाकर विश्वकर्मा विलाल अहमद, श्री गणेश सिंह, वीरेन्द्र चौधरी, इखलाक हुसैन, जमाल सिद्दीकी, पुजारी प्रसाद मौर्य, अब्दुल रहमान आदि गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

सम्मान समारोह के बाद बाहर से आये साहित्यकारों ने अपने वक्तव्य दिये और कार्यक्रम के अध्यक्ष डा0 राजेन्द्र परदेसी जी के अध्यक्षीय वक्तव्य और सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान के अध्यक्ष डा0 भास्कर शर्मा के धन्यवाद ज्ञापन के साथ ही इस सफल कार्यक्रम का समापन हुआ।

 

(35)

Tags:

Leave a Reply


error: Content is protected !!