सपा जिलाध्यक्ष झिनकू चौधरी पर 18 लाख की धोखाधड़ी का केस, गिरफ्तारी की लटकी तलवार

May 13, 2017 3:27 PM0 commentsViews: 1771
Share news

नजीर मलिक

ajay

सिद्धार्थनगर। समाजवादी पार्टी सिद्धार्थनगर के जिला अध्यक्ष अजय चौधरी उर्फ झिनकू चौधरी के खिलाफ त्रिलोकपुर थाने में धोखधड़ी का मुकदमा कायम किया गया है। वह थाने के करीब कठौतिया गांव के निवासी हैं। चुनाव पूर्व इसी थाने में उनकी तूती बोलती थी। समय का फेर देखिए वही पुलिस अब उन्हें गिरफ्तार करने में लग गयी है। इस मामले की जिले भर में चर्चा हो रही है।

खबर के मुताबिक त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के ग्राम डेंगहर निवासी शम्सुल्लाह और प्रगट यादव ने अध्यक्ष झिनकू  चौधरी के ईंट भट्ठे से ईंट खरीदने के लिए 18 लाख रुपये एडवांस दिया था। यहां परम्परा है कि एडवांस पैसा देने पर ईंट तैयार होने पर उन्हें कम दाम पर मिल जाती हैं। बहरहाल ईंटें तैयार होने पर जब वह लेने गये तो वहीं टाल मटोल किया जाने लगा।
बताया जाता है कि  ईंट का मसला धीरे धीरे धीरे उलझता गया। चूंकि  झिनकू चौधरी उस समय सत्ताधारी दल के अध्यक्ष थे, उनकी प्रशासन में चलती थी, इसलिए दोनों पीड़ितों की सुनवाई कहीं नही हुई। अचानक सत्ता बदली तो शम्सुल्लाह व प्रगट यादव ने पैसे की वापसी के लिए फिर भागदौड़ की।

बताते हैं कि कई बार दोनों पक्षों के बीच हुई तू तड़ाक के बाद दोनों पीडि़त ने गत को थाने पर तहरीर देकर फरियाद की। जिस पर त्रिलोकपुर पुलिस ने उन पर धारा 406, 504 और 506 ds तहत मुकदमा कायम कर लिया। कुछ लोगों का कहना है कि पुलिस पर कुछ सियासी दबाव भी डाला गया। बहरहाल मुकदमें के बाद से अध्यक्ष का मोबाइल स्विच आफ है। उनसे बात नहीं हो पा रही है।

 माता प्रसाद के करीबी हैं झिनकू चौधरी

बता दें कि झिनकू चौधरी यूपी विधान सभा के पूर्व अध्यक्ष माता प्रसाद के बहुत करीबी हैं। उनके कार्यकाल में झिनकू चौधरी की जिले में तूती बोलती थी। लेकिन आज सत्ता बदलते ही वहीं पुलिस जो कल तक उनके आगे पीछे घूमती थी, आज उनकी गिरफ्तारी की ताक में लगी है। इसे कहते हैं वक्त- की बात।

Leave a Reply