शिवपति कालेज के छात्र भविष्य में भी देश का नाम रौशन करते रहेंगे- डा. नलिनीकांत

December 28, 2020 1:56 PM0 commentsViews: 256
Share news

निज़ाम अंसारी

शोहरतगढ़,सिद्धार्थनगर। स्थानीय शिवपति इंटर कॉलेज में आयोजित तीनदिवसीय रजत जंयती समारोह के समापन के अवसर पर विद्यालय के गौरवशाली तिहास पर चर्चा हुई साथ ही पुराने छात्रों ने अरसे बाद मिल कर नये छात्रों को बेहततर भविष्य की योजना बनाने के गुर भी बताये। यही समारोह का सार्थक पहलू भी रहा। आयोजन 25 दिसम्बर से 27 दिसम्बर 2020 तक रजत हुआ जिसकी अध्यक्षता प्रधानचार्य डॉ नलिनी कान्त मणि त्रिपाठी ने किया।


रविवार को समारोह को सम्बधित करते हुए प्रधानाचार्य डॉ नलिन कुमार त्रिपाठी ने कहा कि 1995 बैच के छात्रों ने रजत जयंती समारोह का आयोजन कर विद्यालय के इतिहास में एक नए आयाम को जोड़ने का कार्य किया है विद्यालय में पढ़ाई कर चुके पुरातन छात्र  देश के देश व प्रदेश के अलावा अन्य देशों में भी अपनी सेवा दे रहे हैं जो कि विद्यालय का गौरव का विषय है। उन्होंने विश्वास दिलायाकि बेहतरशिक्षा के बल पर यहां सेनिकलने वाले छात्र आगे भी देश के साथविद्यालयय का नाम रौशन करते रहेंगे।

 समापन अवसर पर आयोजक पंडित धीरेंद्र वशिष्ठ जी महाराज श्री राम कथा प्रवक्ता व संथापक श्री लक्ष्मण पीठ सेवा न्यास लखनऊ ने सभी उपस्थित पुरातन छात्रों का अभिवादन करते हुए सभी को उपहार भेंट किया और यह संकल्प दिलाया कि पुरातन छात्र 1995 बैच के पुरातन छात्र जहां भी रहेंगे एक दूसरे के सुख दुख के सहभागी बनने के साथ साथ आपसी मेल व्यवहार को कायम रखने का काम करेंगे साथ ही विद्यालय की सेवा के लिए भी सदैव तत्पर रहेंगे।

 रजत जयंती समारोह के दूसरे दिन रात्रिकालीन सत्र में गजल भजन गीत का आयोजन हुआ जिसमें लोगों ने भरपूर आनंद उठाया। पुरातन छात्रों के बीच पूर्व विद्यालय में एक बार पुनः मिलन होने से काफी खुशी रही। 

इस दौरान सत्येंद्र गुप्ता , सग़ीर खाकसार, अनिल अग्रहरि, कमलेश मिश्रा, मधुर श्याम, राकेश जयसवाल, महेश त्रिपाठी, सोनू श्रीवास्तव ,सूर्य प्रकाश पांडेय, राम प्रकाश मिश्र, तौलेश्वर निषाद, एस पी अग्रवाल, अनिल पाठक  वीरेंद्र मणि त्रिपाठी  मधुर श्याम मिश्रा, मुकेश श्रीवास्तव ,राम सेवक, ओम प्रकाश, मुकेश कुमार,पदमाकर शुक्ल, रमेश मणि त्रिपाठी, मुस्तन शेरुल्लाह,लाल जी यादव, सुरेन्द्र प्रजापति,संतोष कुमार चौधरी आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply