नगर पंचायत अध्यक्ष का परिवार कोरोना संक्रमित, क्या उनके परिवार की कोरोना रिपोर्ट दबाने के प्रयास हुए?

July 16, 2020 2:21 pm0 commentsViews: 2142
Share news

नजीर मलिक/निज़ाम अंसारी

अध्यक्ष प्रतिनिधि व उनके परिजन को इलाज के लिए ले जाते स्वास्थ्य विभाग के लोग

शोहरतगढ़। नगर पंचायत शोहरतगढ़ के अध्यक्ष प्रतिनिधि व हियुवा नेता समेत परिवार के कई अन्य  की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद  प्रशासन एकदम से  अलर्ट हो गया है । उसने ताबड़तोड़ ५७ लोगों के सैम्पल लिए। कस्बे में जगह जगह बैरिकेटिंग किया गया है। इस मामले को लेकर उपनगर में काफी दहशत है। हालांकि उन सभी की रिपोर्ट पहले ही आ गई थी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने जाने अनजाने में इस बात को दबाने में मदद की, लेकिन अन्ततः बात सामने आ ही गई।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक नगर पंचायत अध्यक्ष के परिवार में उनके पति जो हिवा नेता भी है, उनके पुत्र आदि सभी कोरोना पीड़ित हैं। नगर पंचायत अध्यक्ष के नाम से मिलता जुलते एक नाम को पीड़ित बताया गया है, मगर इस बात की पुष्टि नहीं हो पा रही कि नगर पंचायत अध्यक्ष स्वयं भी पीड़ित हैं या उनके नाम से मिलती जुलती कोई दूसरी महिला हैं।

दरअसल कल के स्वास्थ्य विभाग की प्रेसनोट में नगरपालिका सिद्धार्थनगर में ६ कोरोना पीड़ित बता कर लोगों को गुमराह किया गया था। इसके अलावा अध्यक्ष प्रतिनिधि सुभाष गुप्ता ने भी स्वयं को शोसल मीडिया पर कोरोना संक्रमित न होने का दावा किया था। लेकिन बाद में बात खुल गई। और सब असलियत सामने आ गई। बता दें कि वे हिंदू युवा वाहिनी के बड़े नेता के रूप में शमार किये जाते हैं।

 कई सवाल सामने हैं

इस मामले में कई सवाल हैं।  जैसे जब जर पंचायत शोहरतगढ अध्यक्ष प्रतनिधि औ उनका परिवार पीड़ित था तो प्रेसनोट में उनकी संख्या नगरपालिका सिद्धार्थनगर में क्यों जोड़ी गई। दूसरी बात यह है कि जब अध्यक्ष प्रतिनिधि की रिपोर्ट आई ही नहीं तो उन्होंने किस आधार पर अपने को कोरोना मुक्त बताया। इस मामले को लेकर जिले में चर्चा है। इतनी बड़ी गलती किसके दबाव में की गई। क्या इस गलती के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कोई प्रेसनोट जारी किया?

दूसरी तरफ शाहरतगढ़ से हमारे प्रतिनिधि कि मुताबिक

 कोरोना के कारण शोहरतगढ़ में हलचल है। टाउन के अधिकांश क्षेत्र सील हैं। शोहरतगढ़- नौगढ़ मुख्य मार्ग को खुला रखा गया है। प्रशासन ने सील किये गए क्षेत्र में लोगों से घरों में रहने की अपील की रेड जोन से बाहर भी दुकाने एहतियातन बन्द रही। उपजिलाधिकारी सुनील कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के बीपीएम सुरेन्द्र पाल को सील किये गए क्षेत्र के लोगों का सर्वे कराकर सभी संदिग्धों की सैम्पलिंग कराये जाने के निर्देश दिए।

इसके अलावा सील क्षेत्र को नपं कर्मियों द्वारा सेनेटाइज किया जा रहा है। बीते शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने नपं कार्यालय पर पहुंचकर रेंडम जांच के लिए 27 लोगों का नमूना लिया जिसमें से एक कि रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी आज ।चिकित्साधीक्षक डॉ. पीके वर्मा ने बताया कि कुल 57 लोगों के सैम्पलिंग की गई है जिसका रिपोर्ट अभी नहीं आया है ।

आज आई 9 लोगों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट में नगर पंचायत अध्यक्ष के परिवार और बहुत करीबी व्यक्ति भी शामिल हैं। बुधवार सुबह ठेले वालों को पुलिस द्वारा दौड़ाये जाने पर एक सब्जी विक्रेता ने कहा कि प्रशासन की तरफ से उन्हें सही सूचना नहीं दी गई और न ही कोविड के तहत अनाउन्स ही किया गया।

(2056)

Leave a Reply


error: Content is protected !!