जनहित के सवालों से भटकाने के लिए उठाया जा रहा मंदिर का मुद्दा आफताब आलम

November 24, 2018 5:09 pm0 commentsViews: 199
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।एक बार फिर  मंदिर के नाम में अयोध्या में भीड़ का जमावड़ा किया जाना भरतीय जनता पार्टी की सियासी चाल है। उसका असल खेल जनता को मंदिर-मस्जिद के नाम पर एकजुट कर किसानों, नौजवानों, दलितों अल्पसंख्यकों का ध्यान विकास के मुद्दे से भटकाना है। सरकार पास जनहित कोई ऐसा काम नहीं है, जिसे बता कर भाजाIपा  सरकार जनता का वोट मांग सके।

यह बातें बसपा नेता और डुमरियागंज लोकसभा के प्रभारी/प्रत्याशी आफताब आलम ने कहीं। वे शनिवार को शोरतगढ़ क्षेत्र के कोटिया बाज़ार, लोहटी, महादेव बुजुर्ग, गुलरी, धनौरा बुजुर्ग, दुधवनियां, बढ़नी बाजार में बूथ कमेटियोंको मजबूत बनाने के लिए आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलनों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बूथ कमेंटियों से जुड़े लोगों के अलावा समान्य कार्यकर्ता भी भाजपा की इस चाल से जनता को परिचित कराते हुए उनकी पोल खोलते रहें।

आफताब आलम ने कहा कि भाजापा की सरकार में जनहित के काम नहीं हुए। उलटे मोदी  सरकार हजारों करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार में घिर गई। छात्रों ने नौकरी मांगी तो बदले में लाठियां मिली। शिक्षकों को जेल मिली। किसानों के खाद के दाम आसमान पर पहुंच गये। औरतों की इज्जत लूटने के अपराधों में बढ़ोत्तरी हुई। अब वह जनता के बीच कौन सा विकास कार्य गिनायें, इसे लेकर सरकार बौखला गयी हैं । इसी का नतीजा है मंदिर की राजनीति। जिससे समाज को बांट कर वोटों के ध्रुवीकरण का खेल खेला जा रहा है।उन्होंने कहा की बसपा के बूथ कार्यकर्ता गांवों में किसान, जवान,महंगाई, भ्रष्टाचार आदि के मुददे जम कर उठाते रहें, ताकि इस सरकार को बेनकाब और जनता को जागरूक किया जा सके।

अंत में उन्होंने क्षेत्र के बूथों के बारे में कार्यकर्ताओं से जानकारी भी ली। और हिदायत दिया कि जिन बूथों पर अभी कार्यकर्ता कमजोर हों, वहां अधिक ताकत बढ़ा कर बूथ कमेटी  को और मजबूत किया जाये।

कार्यक्रम में   बसपा जिला अध्यक्ष दिनेश चन्द्र गौतम, पूर्व अध्यक्ष पी.आर. आजाद, शमीम अहमद, एजाज अहमद अन्सारी, मुनिराम राजभर, राममिलन भारती, अमजद प्रधान, सुभकरन चौधरी, सजाउद्दीन, अरविन्द कन्नौजिया, सुधिराम गौतम, दानबहादुर चौधरी, रामदेव चौहान, आलम भाई, मो. जाकिर, दुर्गा प्रसाद चौधरी, परवेज़ अहमद, फरहान खान, पप्पू भाई, कौशल किशोर, परती बाबा, रामपाल, विजय कुमार, फूलचन्द, हीरालाल कुरिल, बलिराज, विजय कुमार आदि लोग शामिल रहे |

 

(113)

Leave a Reply


error: Content is protected !!