उग्रसेन सिंह व अनिल सिंह के एक साथ पर्चा भरने से शोहरतगढ़ में सपा–कांग्रेस गठबंधन को झटका

February 9, 2017 5:27 PM0 commentsViews: 2151
Share news

नजीर मलिक

sho

सिद्धार्थनगर। जिले की शोहरतगढ़ सीट से कांग्रेस और सपा दोनों के उम्मीदवारों द्धारा पर्चा दाखिल करन से वहां सपा–कांग्रेस गठबंधन को भारी झटका लगा है। इसके लेकर अफवाहों का दौर जारी रहा। सपा के उग्रसेन सिंह और कांग्रेस के अनिल सिंह दोनों ही अपने को गठबंधन का प्रत्याशी बताते रहे। नतीजतन वहां का राजनैतिक टेम्प्रेचर बढ़ा रहा।

 पूर्व घोषणा के अनुसार सपा उम्मीदवार उग्रसेन को नामांकन दाखिल करना था। लेकिन सुबह से ही खबरें आने लगीं कि उग्रसेन की दावेदारी समाप्त कर गठबंधन की ओर से कांग्रेस के अनिल सिंह को टिकट दिया गया है। इस खबर के बाद सच्चाई जानने के लिए कलक्ट्रेट पर हुजूम जुट गया।

लगभग १० बजे उग्रेसन आये और सपा उम्मीदवार के रूप में उन्होंने नामांकन दाखिल किया और खुद को गठबंधन का उम्मीदवार बताया। ११ बजे कांग्रेस नेता व पूर्व विधायक अनिल सिंह भी पहुंच गये और उन्होंने भी खुद को गठबंधन का उम्मीदवार बता कर पर्चा दाखिल कर दिया। दोनों ने अपने पर्चे सिम्बल के साथ दाखिल किये।

अनिल सिंह का पर्चा भराने के लिए आज जिले भर के कांग्रेसी जमा हुए। कांग्रेसी दिग्गज व पूर्व सांसद मो. मुकीम, कांग्रेस जिला अध्यक्ष ठाकुर प्रसाद तिवारी, चुनाव प्रभारी कैलाश वाजपेयी आदि ने झाई बजे के आसपास पूरे जोश व खरोश के साथ अनिल सिंह का पर्चा भराया।

क्या बोले उग्रसेन

इस बारे में उग्रसेन सिंह ने बताया कि वो पहले से ही सपा के उम्मीदवार थे।आज कांग्रेस के पर्चा दाखिले की खबर सुन कर उन्हों नेसपा आलाकमन से बात की तो उन्हें पर्चा दाखिले का निर्देश मिला। इसलिए मै ही सपा और गठबंधन का उम्मीदवार हूं।

अनिल सिंह ने कहा

अनिल सिंह ने बताया कि उन्हें रात में कांग्रेस पार्टी का निर्देश मिला की सपा ने कांग्रेस को गठबंधन के तहत यह सीट उनको दे दी है। इसलिए सुबह उन्हें शोहरतगढ़ से नामांकन करना है। कांग्रेस ने सिंबल भी विशेष वाहक के द्धारा भेजा। इसलिए मैने नामांकन किया।

मुकीम ने कहा

पूर्व सांसद हाजी मुकीम ने कहा कि यह सीट सपा ने कांग्रेस को दे दी है। जल्द ही सपा उम्मीदवार का सिंबल निरस्त करने के लिए सपा आलाकमान रिटर्निंग अफसर को पत्र भेज देगा और १३ फरवरी को सपा उम्मीदवार का परचा खारिज हो जायेगा। उन्होंने कहा कि १३ को सब कुछ साफ हो जायेगा। उम्मीदवार कांग्रेस का ही होगा।

माता प्रसाद उग्रसेन की गुप्त बैठक

उग्रसेन के टिकट के बारे में पूछे जाने पर यूपी स्पीकर माता प्रसाद पांडेय ने कुछ साफ कहने के बजाय गोलमोल बात की और कहा कि जो गठबंधन का उम्मीदवार नहीं होगा, उसका पर्चा आने वाले दिनों में खारिज हो जायेगा। बाद में वह उग्रसेन सिंह के साथ सपा कार्यालय आये और वहां बंद करने में देर तक बातचीत की।

बदलेगी चुनावी हवा

नये सियासी हालात से शोहरतगढ़ के चुनावी समी करण बदलने की आशंका खड़ी हो गई है। यदि उग्रसेन के बजाये वहां से कांग्रेस के अनिल सिंह चुनाव लड़ेंगे तो नये समीकरणबनेंगे और यदि दोनों फ्रेंडली लड़ेंगे तो दूसरे समीकरण होंगे। वह समीकरण क्या होंगे, नामांकन प्रक्रिया समाप्त होने पर ही सामने आ सकेंगे।

 

Leave a Reply