सिंहेश्वरी मंदिर: महंथ स्व. त्रिवेणीदास को विधायक के भाई ने पांच साथियों संग लगाया था जहरीला सूई

July 13, 2019 6:07 PM0 commentsViews: 3189
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। शहर के श्री सिंहेश्वरी देवी मंदिर के मंहथ स्व. त्रिवेणीदास वेदांती के चेले श्रीराम दास सादिक ने पुलिस अधीक्षक से मिलकर एक तहरीर दी है। तहरीर में लिखा है कि मंदिर की महंथी को लेकर कई बार विवाद हो चुका है। स्व. त्रिवेणी दास वेदांती जी को वर्तमान सदर विधायक श्यामधनी राही के भाई शिव प्रसाद त्यागी ने मंदिर पर कब्जा जमाने के लिए अपने पांच अन्य साथियों के साथ योजनाबद्ध तरीके से सीसीटीवी बंद कर गोलबंद होकर जहर का सूई लगा दिए और वहां से भाग निकले। जिससे उनकी कुछ ही देर में मौत हो गई। यहा बात महंथ जी ने मरने से पहले बता चुके थे।

एसपी को दिए तहरीर में श्रीराम दास सादिक ने लिखा है कि विपक्षी शिव प्रसाद त्यागी अपने मेली मददगार अयोध्या दास पुत्र टीहुल साकिन पननी थाना मोहाना, संतराम दास पुत्र लालमन ग्राम कोल्हुआ थाना सदर, जयंती पांडेय पुत्र उदयराज व अरविंद मणि त्रिपाठी पुत्र रामचंदर साकिन बुद्धनगर और रोवांपार के मनीराम पुत्र बनारसी थाना सदर ने गुंडई व दबंगई के बलबूते मंदिर में कई बार ताला लगा चुके हैं जिसे प्रशासन के सहयोग से खुलवाया गया था। इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को भी दी जा चुकी है।

श्रीराम दास ने तहरीर में लिखा है कि उक्त विपक्षीगण ने मिलकर रात के 11 बजे मंहथ त्रिवेणीदास के कमरे में घुसकर उन्हें जहरीला सूई लगा दिए और वहां से फरार हो गए। महंथ जी को जब घबराहट हुई तो चेले विश्वनाथ दास को बुलाया और कहा कि मुझे घबराहट हो रही है। जल्द से सुधीर पांडे, अरूण त्रिपाठी, श्रीकृष्ण को बुलाओ और अस्पताल ले चलो। इसके बाद सबको फोन कर तुरंत बुलाया गया।

सबके आने के बाद महंथ जी से पूछताक्ष की गई तो उन्होंने कहा कि उक्त विपक्षीगण आए थे और मेरे पैर में सूई चुभोकर चले गए। इतना बताने के बद महंथ जी बेहोस हो गए और फौरन अस्पताल ले जाया गया जहां पर उनकी मौत हो गई। महंथ जी का चेला होने के नाते यह तहरीर दे रहा हूं कि मुकामी पुलिस से गंभीरता पूर्वक जांच कराकर सभी विपक्षीगणों के विरूद्धा कानूनी कार्यवाही की जाए।

Leave a Reply