सरकार के ताबूत की आखिरी कील साबित होगी सपा की दस दिनी साइकिल यात्रा- अरशद खुर्शीद

May 6, 2016 11:39 AM0 commentsViews: 284
Share news

अजीत सिंह

arshad

सिद्धार्थनगर। समाजवादी पार्टी की साइकिल यात्रा सरकार के ताबूूत की आखिरी कील साबित हो रही है। सपाइयों के गांव में पहुंचने पर जनता के दुख हरे हो जा रहे हैं। इससे बसपा के प्रति जनता का रूझान तेज हो रहा है।

यह दावा बसपा नेता और इटवा विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी अरषद खुर्शीद का है। जिनका दावा है कि सपाई जत्थों के गांवों में पहुंचने पर जनता के जख्म हरे हो जाते हैंे और किसान को नये विकल्प के रूप में बसपा की याद आने लगती है।

आज यहां जारी एक बयान में बसपा नेता खुर्शीद ने कहा है कि गांव में समाजवादी वर्करों को देख कर जनता को याद आती है हाल में आगलगी की घटनायें, जिसमें किसानों की करोड़ों की फसल जली और नुकसान हुआ, मगर फसलों का मुआवजा किसी किसान को नहीं मिला।

उन्होंने कहा कि गांव का किसान बिजली पानी के लिए तरस रहा है। नहरें जर्जर हैं, नलकूपों की दशा भी खराब है। ऐसे में गांव का गरीब किसान जब सपाइयों को देखता है तो उसका सोया दर्द जाग जाता है और वह विकल्प स्वरूप बसपा को याद करने लगता है।

उन्होंने कहा कि सायों गांवों में जितना घूमेंगे, किसान का दर्द उतना ही जगेगा और यही दर्द इस सरकार के ताबूत कि लिए अंतिम कील बनेगा। उन्होंने लोगों से कहा है कि सूबे की कानून व्यवस्था ठीक रखने और अफसरों पर लगाम लगाने का काम केवल बहिन जी ही कर सकती हैं।

Leave a Reply