मौन धरने के बाद राज्य कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन

October 2, 2015 4:54 pm0 commentsViews: 35
Share news

संजीव श्रीवास्तव

7777गांधी जयंती पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के सदस्यों ने जिला अस्पताल परिसर में स्थित गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया उसके बाद कर्मचारियों का जत्था कलेक्ट्रेट परिसर पहंुचा और मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा।

शुक्रवार को सुबह लगभग 9 बजे राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष अनिल सिंह के नेतृत्व में दर्जनों कर्मचारी जिला अस्पताल पहंुचे और वहां स्थापित गांधी प्रतिमा के समक्ष धरने पर बैठ गये। लगभग 1 घंटे तक मौन धरना देने के बाद कर्मचारियों का जत्था कलेक्ट्रेट के लिए रवाना हुआ।

प्रदर्शन के दौरान भी कर्मचारियों ने अपना मौन कायम रखा और कलेक्टेªट में पहले सभा की, उसके बाद उप जिलाधिकारी सदर रजित राम प्रजापति को ज्ञापन सौंपा। सभा को संबोधित करते हुए मिनिस्ट्रियल एसोसियेशन के जिलाध्यक्ष भूपेश शुक्ला ने कहा कि अब कर्मचारी गांधीगिरी कर सरकार पर दबाव बनायेंगे। इसकी शुरुआत आज हो चुकी है।

संघर्ष समिति के अध्यक्ष ईश्वर दूबे ने कहा कि अभी कर्मचारी गांधीगिरी कर रहे हैं, मगर यदि सरकार नहीं चेती, तो कर्मचारी भगत सिंह का भी तरीका अपना सकते हैं। फार्मासिस्ट एसोसियेशन के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने भी कर्मचारियों की समस्याओं पर सरकारी रवैये की आलोचना की।

इस अवसर पर मुणाल चन्द्र, दीपक श्रीवास्तव, राजेश श्रीवास्तव, दीपेन्द्र मणि त्रिपाठी, गोविंद कुमार, जय गोविंद ओझा, रमेश कुमार, कृष्ण कुमार, दस्तगीर अहमद आदि की मौजूदगी रही।

(1)

Leave a Reply


error: Content is protected !!