सुनीता मर्डर मिस्ट्रीः हत्या के लिए दी थी एक लाख की सुपारी, पति और एक शूटर शिकंजे में, नेपाली शूटर की तलाश

September 29, 2015 4:21 pm0 commentsViews: 664
Share news

नजीर मलिक

सुनीता की लाश, पुलिस शिकंजे में सुनीता का पति और शूटर जितेंन्द्र गुप्ता

सुनीता की लाश, पुलिस शिकंजे में सुनीता का पति और शूटर जितेंन्द्र गुप्ता

सुनीता मर्डर मिस्ट्री की गुत्थी सुलझ गई है। जैसा कि कपिलवस्तु पोस्ट का दावा था, उसकी हत्या शार्प शूटरों ने ही की थी। कत्ल के लिए सुनीता के पति दीप सागर उर्फ परशुराम कनौजिया ने शूटरों को एक लाख की सुपारी दी थी। पुलिस ने आज मंगलवार को सुनीता के पति और एक शूटर को शिकंजे में लेकर जेल भेज दिया है। एक नेपाली शूटर की तलाश जारी है।

मोहाना थाना के एसओ मुकेश कुमार राय और सब इंस्पेक्टर गिरिजेश उपाघ्याय ने एक गोपनीय सूचना के आधार पर अपनी टीम के साथ बर्डपुर टाउन के तिराहे पर धावा मार कर जितेंन्द्र गुप्ता नाम के युवक को दबोज लिया। र्बउपुर कस्बे का ही रहने वाला जितेन्द्र भाड़े का शूटर था। उसी ने सारे रहस्य उगले।

थर्ड डिग्री के इस्तेमाल के बाद जितेन्द्र ने बताया कि उसने नेपाल निवासी अपने शूटर साथी, ग्राम बरकुल निवासी देवकीनंदन के साथ मिल कर सुनीता को गोली मारी थी। उसका और देवकी नंदन का एक गैंग है, जो भाड़े की हत्या के लिए सुपारी लेता है।

शूटर ने खोला कत्ल का राज

जितेंन्द्र गुप्ता ने बताया कि सुनीता की हत्या के लिए उसके पति परशुराम ने उसे और देवकीनंदन को एक लाख की सुपारी दी थी। जिसमें उन्हें 50 हजार एडवांस मिल गया था। बाकी की रकम मिलनी थी। इससे पहले वह पकड़ लिया गया।

शूटर के मुताबिक सुनीता का पति उससे छुटकारा पाना चाहता था। 23 सितम्बर को वह वह पति-पत्नी के समय पीछे ही मोटर साइकिल से थे। प्लान के मुताबिक जब परशुराम बर्डपुर ब्लाक के पास पेशाब करने के बहाने रुका, तो सुनीता को अकेली पाकर उन्होंने 9 एम एम की पिस्टल से गोली मारी।

पति ने क्यों दी थी सुपारी?

पत्नी की हत्या के आरोप में पकड़े गये परशुराम ने बताया कि सुनीता का चाल चलन ठीक नहीं था। इसलिए उसने यह फैसला लिया। दूसरी तरफ सुनीता की मां का कहना है कि उसकी बेटी का चेहरा छोड़ कर पूरा शरीर जला था। लिहाजा उसके तमाम लोगों से संबंध की बात एतबार करने के काबिल नहीं है। दरअसल परशुराम खुद दूसरी औरत के चक्कर में था।

याद रहे कि 23 सितम्बर को सायं 7.30 बजे सिद्धार्थनगर-अलीगढवा मार्ग पर बर्डपुर ब्लाक कार्यालय के निकट परशुराम अपनी मोटर साइकिल रोक कर पेशाब करने गया। उसी समय मोटर साइकिल सवार शूटरों ने सुनीता की गरदन पर गोली मार दी। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई।

सुनीता को गोली 9 एम एम की पिस्टल से मारी गई थी। निशाना अचूक था। इसलिए एक ही गोली मारी गई। पुलिस ने जितेंन्द्र की गिरफृतारी के साथ हत्या में यूज की गई पिस्टल और मोटर साइकिल भी बरामद कर ली है।

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने मंगलवार को प्रेस कान्फ्रेंस में बताया कि पकड़े गये शूटर पर पांच हजार का इनाम था। उन्होंने बताया कि घटना में शामिल नेपाली शूटर देवकीनंदन की तलाश जारी है।

(13)

Leave a Reply


error: Content is protected !!