प्रदेश में तीसरे दिन स्वास्थ्य विभाग के लिपिकों का धरना प्रदर्शन जारी

July 22, 2021 4:18 pm0 commentsViews: 231
Share news

– नहीं हुआ पूरे प्रदेश में जननी सुरक्षा का भुगतान।

– जेम पोर्टल पर होने वाला खरीद-फरोख्त का कार्य भी बाधित।

– राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, राज्य कर्मचारी महासंघ, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ ने दिया आंदोलन को समर्थन एवं कहा कि उत्पीड़न की दशा में हम भी हो जाएंगे आंदोलन में शामिल।

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा तबादला आदेश को निरस्त करने के लिए चल रहे आंदोलन के तीसरे दिन पूरे जनपद में यूपी मेडिकल एंड पब्लिक हेल्थ मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन का धरना प्रदर्शन जारी रहा, जिसके कारण मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय, जिला चिकित्सालय कार्यालयों में कोई भी कार्य नहीं हुआ। कार्यालय न खुलने के कारण चिकित्सा प्रमाण पत्र, स्वास्थ्य प्रमाण पत्र, मेंडिकोलीगल प्रमाण पत्र बनाने वाले लोग भटकते रहे। लिपिकों के द्वारा संपादित किया जाने वाला जननी सुरक्षा योजना का भुगतान भी पूरे प्रदेश में बाधित रहा।

विभाग में जेम पोर्टल के माध्यम से खरीद-फरोख्त की प्रक्रिया लिपिकों के सहयोग से की जाती है वह भी पूरे जनपद में पूरी तरह से बाधित रही जो कि कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी के दृष्टिगत बहुत ही चिंतनीय है। उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, राज्य कर्मचारी महासंघ एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ ने इस आंदोलन को समर्थन प्रदान दिया एवं कहा कि यदि इस आंदोलन के दौरान कर्मचारियों का उत्पीड़न किया जाता है तो वह भी इस आंदोलन में पूर्ण रूप से भाग ले लेंगे।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष अनिल सिंह द्वारा धरने को संबोधित करते हुए कहा गया कि स्वास्थ्य विभाग में मिनिस्ट्रियल संवर्ग के साथ ट्रांसफर में बहुत ही अन्याय पूर्ण कार्य किया गया महिलाओं को हजारों किलोमीटर दूर पर तैनाती की गई तथा नीति में मिलने वाले लाभ दिव्यांग, दंपत्ति, कम सेवा अवधि आदि को भी वंचित रखा गया। ट्रांसफर के नाम पर बड़े पैमाने पर शोषण मिनिस्ट्रियल संवर्ग के साथ किया गया। शासन को कर्मचारियों की मांगों को संज्ञान में लेते हुए अविलंब इस समस्या का निदान करना चाहिए।

यूपी मेडिकल एंड पब्लिक हेल्थ मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन के जिला मंत्री कन्हैया लाल यादव ने कहा की स्थानांतरण के नाम पर शोषण स्वीकार नहीं है, स्थानांतरण में कोई भी मानकों को ध्यान पर नहीं रखा गया और मनचाहे तरीके से शोषण करने के उद्देश्य से दूरस्थ स्थानों पर तैनाती प्रदान की गई जब तक स्थानांतरण सूची निरस्त नहीं की जाती है हम आंदोलन से पीछे हटने वाले नहीं है। आज के धरने को समर्थन प्रदान करने वाले संबोधन में संवर्ग के हित मे आंदोलन को जायज ठहराया।

इस मौके पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद जनपद शाखा सिद्धार्थनगर के अध्यक्ष अनिल सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेश श्रीवास्तव, सम प्रेषक कमलेश यादव, अवधेश यादव अध्यक्ष पेंशन संरक्षक राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, भूपेश शुक्ला डिप्लोमा एसोसिएशन, जिला मंत्री गोविंद ओझ, अध्यक्ष वाय पी यादव, l&t संघ के जनपदीय अध्यक्ष, ए के त्रिपाठी की उपस्थिति एवं अन्य पदाधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। जनपद सिद्धार्थनगर मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन के लिपिक अब्दुल अजीज, कमलेश उपाध्याय, तेज प्रकाश, अनवर अली, दीनानाथ, दुर्गेश उपाध्याय, मिथिलेश पांडे, राजेश कुमार श्रीवास्तव, केडीपी ओझा, मनीष रंजन एवं अन्य लोग की उपस्थिति रही

(210)

Leave a Reply


error: Content is protected !!