तहसील दिवस के मामलों को तीन दिन में न निपटाने पर सबंधित के विरूद्धा होगी कड़ी कार्रवाई- डीएम

July 16, 2019 7:02 pm0 commentsViews: 530
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप गरीबों, असहायों को उचित एवं त्वरित न्याय दिलाये जाने की कार्यवाही सुनश्चित करें। किसी भी पीड़ित व्यक्ति को उचित न्याय दिलाना हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है। किसी भी विभाग का तहसील दिवस का कोई भी प्रकरण लम्बित नही होना चाहिए यदि किसी विभाग का प्रकरण लम्बित पाया जायेगा तो सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

शासन के मंशानुरूप प्रत्येक माह के प्रथम एवं तीसरे मंगलवार को सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस का आयोजन किया जाता है। तहसील इटवा में जिलाधिकारी दीपक मीणा की अध्यक्षता एवं पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर की उपस्थिति में सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। जिसमें कुल 67 मामले पेश हुए और जिलाधिकारी दीपक मीणा ने मौके पर 6 मामलों का निस्तारण कर अन्य सभी मामलों को तीन दिन के भीतर निपटाने का निर्देश दिया।

तहसील इटवा में आयोजित सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस के आयोजन के अवसर पर राजस्व, विकास, शिक्षा, पूर्ति एवं अन्य विभागों के शिकायतों की सुनवाई जिलाधिकारी दीपक मीणा, उपजिलाधिकारी इटवा त्रिभुवन द्वारा किया गया तथा पुलिस विभाग से सम्बन्धित प्रार्थना पत्रों की सुनवाई पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह द्वारा किया गया।

इस अवसर पर कुल 67 प्रार्थना पत्र प्रस्तुत हुए जिसमें राजस्व-35, पुलिस विभाग से सम्बन्धित-7, विकास-10, विद्युत-10, चकबन्दी-01, परिवहन-01, शिक्षा-01, समाज कल्याण-01 मामले प्रस्तुत हुए। जिलाधिकारी दीपक मीणा ने 06 प्रार्थना-पत्रों का मौके पर ही निस्तारण करा दिया गया तथा तहसील दिवस में प्राप्त शेष शिकायती प्रार्थना पत्रों को तीन दिवस के अन्दर शत-प्रतिषत निस्तारण की कार्यवाही सम्बन्धित विभाग के अधिकारी सुनश्चित करने हेतु निर्देशित किया।

इस अवसर पर उपरोक्त के अतिरिक्त जिला विकास अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद, पी. डी. सन्त कुमार, उपकृषि निदेषक डा. पी. के. कन्नौजिया, जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल सिंह, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, नायब तहसीलदार इटवा, तहसील इटवा क्षेत्र के अन्तर्गत समस्त थानाध्यक्ष एवं खण्ड विकास अधिकारी तथा अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

(300)

Leave a Reply


error: Content is protected !!