देखें Video- ठंड से हुर्इ टीचर बेहोश, अलाव जलाकर बचाई गयी जान

January 1, 2017 12:16 PM0 commentsViews: 603
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर । भीषण शीतलहर व ठण्ड की चपेट में आने से एक महिला टीचर गश खाकर बेहोश हो गयी। उसे तत्काल अलाव जलाकर राहत दी गयी, तो उसकी जान बच सकी। बर्डपुर ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय देवरा चौधरी की उस टीचर का नाम नगमा बानों बताया जा रहा है।

बताया जाता है कि हेडमास्टर के पद पर तैनात नगमा बानों कल दोपहर किसी काम से स्कूल के कमरे से निकल कर बाहर आयी, तो भीषण ठंड सहन न कर पाने के कारण वह प्रांगण में गिर कर बेहाश हो गईं। यह देख अफरा–तफरी मच गयी। स्कूल की महिला टीचर व रसोईयों ने तत्काल पुआल जलाकर उन्हें गर्मी दी, तब कहीं जाकर उनको होश आया।

विदित हो कि इसके पहले डुमरियागंज में ठंड से एक महिला टीचर की मौत हो गई थी तथा ठंड जनित कारणों से आधा दर्जन से ज्यादा अध्यापक इसकी चपेट में आकर परेशान हो चुके हैं। बता दें कि जिलाधिकारी द्वारा इस भीषण शीत लहर और ठंड में सिर्फ बच्चों केलिए अवकाश घोषित किया गया है ऐसे में अध्यापक अध्यापिकाओं शिक्षा मित्रों और अनुदेशकों की विद्यालय पर उपस्थिति अनिवार्य कर दी गयी है। आदेश के अनुपालन में विद्यालय जाना शिक्षक कर्मचारियों की विवश्ता बन गयी है।

यही वजह है कि तमाम अध्यापक अध्यापिकाएँ घर से 30 से 40 किमी तक की दूरी तय करके विद्यालय पहुँचने पर विवश है। घने कोहरे और शीत लहर के कारण वाहन आदि की चपेट में आने से अबतक जिले के आधा दर्जन शिक्षक गंभीर रूप से घायल हो चुके है। परन्तु प्रशासन शिक्षकों के प्रति पूरी तरह से उदासीन बना हुआ है।

पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ ब्लाक इकाई बर्डपुर के अध्यक्ष कलीमुल्लाह ने बच्चों के अवकाश के बाद शिक्षक शिक्षिकाओं के विद्यालय पर उपस्थिति को औचित्यहीन बताते हुए शिक्षक कर्मचारियों को भी अवकाश घोषित किये जाने की माँग की है।

Leave a Reply