दस डकैत पकड़े जाने के बावजूद दहशत में ग्रामीण, पिटाई, ठुकाई और हाहाकार के बीच गुजर रही रात

January 20, 2016 4:31 pm1 commentViews: 895
Share news

नजीर मलिक

आतंक के चलते रात में गांवों में पहरा देते ग्रामीण

आतंक के चलते रात में गांवों में पहरा देते ग्रामीण

सिद्धार्थनगर। चार दिन पूर्व एनकाउंटर के बाद 10 शातिर डकैतों के पकड़े जाने के बावजूद सिद्धार्थनगर के गांवों से दहशत समाप्त नहीं हो पाई है। चोरों के आतंक से लोग परेशान हैं। अफवाहें चल रही हैं। अनजान लोगों की पिटाई ठुंकाई और रात को अफवाहों के दौरान मचने वाले हाहाकार से ग्रामीणों की नींद हराम है।

तीन दिन पूर्व डुमरियागंज थाना क्षेत्र के ग्राम हजिरवा व दाउदजोत के बीच कुछ लोगों ने एक अनजान आदमी को चोर समझ कर पीट दिया। मगर सच समझने के बाद पिटाई करने वाले फरार हो गये। पुलिस मौके पर पहुंवी मगर कुछ हाथ न आया।

सोमवार को इटवा थाना क्षेत्र में घूम रही एक पिकअप को लोगों ने चोरों की मुखबिर गाड़ी समझ लिया। थाने का फोन घनघनाने लगा। पुलिस मौके पर पहुंची तो लोगों की जान बची।

मंगलवार की रात चिल्हिया थाना क्षेत्र में डकैती पड़ने की अफवाहें नेपाल बार्डर से लेकर दक्षिण में पकड़ी बाजार तक गूंजती रहीं। लोग रात भर जगे रहे। पुलिस भी भाग दौड़ कर हलकान होती रही।

यह हालत सिफ तीन थानों की नहीं, वरन पूरे जिले की है। रातों में गांव का हर नौजवान हाों में लाठी लिए पहरे में लग जाता है। एक गांव में जागते रहो के नारे की आवाज को अक्सर पड़ोसी गांव के लोग चोरों की हरकत समझत लेते हैं। नतीजे में उस गांव में भी अफरा तफरी फैल जाती है।
हमारे इटवा रिपोर्टर से मिली जानकारी के मुताबिक गोल्हौरा थाना अंतर्गत पचमोहनी क्षेत्र के दर्जनो गांव दहशत के माहौल मे रात भर जागने के लिए मजबूर हैं। इलाके में पेदा नानकार, पचमोहनी,  महुआपाठक,  नरायनपुर,  मटेसर नानकार, डडवा, तिघरा, मनखोरिया समेत दर्जनो गांवो मे रात 9 बजे से लेकर 2 बजे तक जब तक बिजली नहीं आ जाती है, तब तक लोग जागते रहो का नारा लगाने के लिए मजबूर रहते हैं।

इसी तरह बांसी तहसील क्षेत्र के दर्जनों गांव में लोग रतजगा कर पहरा दे रहे हैं। पूरी रात ग्रामीण अंचलों में जागते रहो, जागते रहो की आवाज गूंज रही है। सोमवार की रात नेउरी गांव में किसी ने डाकुओं के आने की अफवाह फैला दिया। देखते ही देखते पूरे गांव के लोग लाठी डंडा लेकर गांव से बाहर निकल आये।  यही नहीं अफवाह फैलते ही आस.पास के गांव सतवाढ़ी, मजगवा, खिरिया, नवैला, पिपरा, धोरहरा, नरकटहा आदि गांवों में लोगों ने पहरा तेज कर दिया।

ऐसा ही हाल क्षेत्र के सभी गांव का है। किसी भी अंजान व्यक्ति व वाहन को गांव की तरफ आता देखा लोग डाकू के आने की अफवाह फैला दे रहे हैं। अफवाहों की देन है कि खेसरहा थाना क्षेत्र के ऐचनी, गेंगटा, पूरनजोत,  टीकरी पकडिय़ा, कुर्थिया, घोसियारी सहित दो दर्जन गांव में लोग पूरी रात टोली बना कर पहरा देरहे हैं।

ऐसा ही कुछ हाल पथरा थाना क्षेत्र के गांव विशुनपुरवा, पथरा, सेहरी, सुम्हा, मनिकौरा तिवारी, पेड़ार, पिपरा, नानकार, रामभारी, तिगोडवा, बनगवाए दढ़वा भैया, गनवरिया, बूढ़ापार, कदमडरवा, कम्हरिया, सिसई सहित तीन दर्जन गांवों की है। कोतवाल बांसी शमशेर बहादुर सिंह ने बताया कि पूरे क्षेत्र में पुलिस की गश्त तेज कर दी गयी है।

(11)

1 Comment

Leave a Reply


error: Content is protected !!