चोरों के आतंक से रात भर जाग कर पहरा देने को मजबूर हैं लोग

January 17, 2016 4:45 pm0 commentsViews: 1276
Share news

हमीद खान

चोरों के खौफ से इटवा इलाके में रात को पहरा देते ग्रामीण

चोरों के खौफ से इटवा इलाके में रात को पहरा देते ग्रामीण

इटवा, सिद्धार्थनगर। स्थानीय थाना क्षेत्र में इस समय चोरों के आतंक से लोग पूरी रात पहरा देते हुए जागकर बितातें हैं। रात नौ बजने के बाद से ही चोरों के आने का शोरशराबा शुरू हो जाता है।

मिले समाचार के अनुसार बीते सात दिनों से इटवा वा त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के गांव के लोग रात में बारी लगा कर पहरा देते हैं। पिपरा पठान से खड़सरी तक लोग चोरों के आने की भनक पाकर पहरा देते रहे। तो दूसरी तरफ रामापुर समेत कई गांव के लोगों ने अपने गांव की हेफाजत की कमान खुद संभाल ली है।

इस गांव के लोग रात भर बारी लगा कर पहरा देते हैं। इसलिए कि अमौना और सिरसिया में बीते नौ जनवरी को चोरों ने दो घरों में घुस कर लूटपाट की और घर वालों को पीट कर घायल कर दिया था। इससे लोग आतंकित हैं।

शुक्रवार की रात नौ बजते पिपरा पठान, सिरसिया में चोरों को देख कर लोगों ने शोर शुरू किया। पुलिस के आने पर ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष मो. नफीस चौधरी ने बताया कि रात में छत पर बैठ कर पहरा देना पडता है। जो कि इस ठंढ़क में बहुत कष्टदायक है।

इसी तरह रामापुर गांव के प्रधान अब्दुल वाहिद का कहना की हमारे गांव में हर घर से एक व्यक्ति को पहरा देने की बारी लगी है। जिस में एक रात में 25 से 30 लोग शामिल हो कर पूरी रात जाग कर और गांव में चल चल कर सोने वाले जागते रहो की आवाज लगाते हैं।

इस सम्बंध में थाना अध्यक्ष संजय पाण्डेय ने बताया कि चोरों की तलाश की जा रही है। रात्रि गश्त जारी है। जल्द ही इनको कानून के हवाले किया जायेगा।

(1)

Leave a Reply


error: Content is protected !!