बसपा में भारी उथल पुथल, इटवा से अरशद खुर्शीद बने पार्टी उम्मीदवार, बदले जायेंगे कई और प्रत्याशी

January 9, 2016 1:58 PM2 commentsViews: 1503
Share news

नजीर मलिक

eleph
सिद्धार्थनगर। जिले में बहुजन समाजपार्टी के अंदरखाने में भारी उथल पुथल मचने के संकेत हैं। इटवा में बसपा ने गैरजनपद के रहने वाले अरशद खुर्शीद को विधासभा प्रत्याशी बना दिया है। 15 जनवरी तक शोहरतगढ़ व कपिलवस्तु क्षेत्रों के भी नये उम्मीदवार घोषित कर दिये जायेंगे। इस घटनाक्रम के बाद से पार्टी में बड़ी बगावत फैलने की आशंका खड़ी हो गई है।

खबर है कि चर्चित और बाहुबली नेता रिजवान जहीर के भांजे और बलरामपुर के निवासी अरशद खुर्शीद को इटवा विधानसभा क्षेत्र से बसपा का उम्मीदवार बना दिया गया है। उनकी उम्मीदवारी की घोषणा आज शाम हो जायेगी। बसपा जिलाध्यक्ष दिनेश गौतम ने इसकी पुष्टि कर दी है। उन्होंने कहा है कि शाम तक उनके नाम की अधिकृत घोषणा हो जायेगी।

इटवा से पूर्व सांसद मुहम्मद मुकीम ही बसपा के स्वाभाविक उम्मीदवार थे। उनकी दावेदारी पर विराम लगने के बाद इटवा में बसपा के गैरदलित सपोर्टरों में भारी गुस्सा है। यह गुस्सा आगे बड़ा गुल खिला सकता है।

कपिलवस्तु पोस्ट को मिली जानकारी के मुताबिक शोहरतगढ़ व नौगढ़ यानी कपिलवस्तु में भी पार्टी प्रत्याशी बदला जा रहा है। मुम्बई की एक करोड़पति बिल्डर सेठानी ने अपने बेटे जावेद को उम्मीदवार बनाये जाने के लिए बसपा में बहुत उच्चस्तर तक सम्पर्क बना लिया है।

उसने पार्टी को चंदे के रूप में लंबी रकम देने का वादा किया है। जावेद के नाम घोषणा, उम्मीद है मायावती के जन्मदिन के अवसर पर कर दी जायेगी। नौगढ़ के लिए भी पार्टी आर्थिक रूप से मजबूत प्रत्याशी के तलाश में है।

सुरक्षित हैं डुमरियागंज प्रत्याशी

जहां तक डुमरियागंज विधानसभा क्षेत्र का सवाल है, वहां की उम्मीदवार सैयदा मलिक बनी रहेंगी। वैसे पार्टी के एक तबके का मानना है कि देर सवेर सैयदा मलिक भी खतरे के जद में आ सकती हैं, लेकिन इस दावे में बहुत दम नहीं दिखता है।

15 के बाद बजेगा बगावत का बिगुल

बसपा में चल रहे ताजा घटना क्रम के मदृदेनजर 15 जनवरी के बाद कभी भी बगावत का बिगुल बज सकता है। जानकारी के मुताबिक पार्टी के  कई वरिष्ठ नेता मायावती के जन्म दिन 15 जनवरी तक कुछ नहीं करने के मूड में हैं। उन्हें उम्मीद है कि शायद मायावती जन्मदिन मनाने के बाद कुछ नेताओं के सुझाव पर उम्मीदवार बदल दें।

सूत्रों के मुताबिक ऐसा नहीं होने पर उम्मीदवारी से वंचित किये गये कई बसपा नेता अपने समर्थर्कों के साथ पार्टी छोड़ने का एलान करेंगे। फिलहाल तो बसपा के सबसे वरिष्ठ और जनाधार वाले नेता मुहम्मद मुकीम का कहना है कि उन्हें बहिन जी पर विश्वास है। वह निकट भविष्य में सही फैसला लेंगी।

2 Comments

  • ताब अहमद समद

    ये बता देना ज़रूरी समझता हूँ कि हाजी अरशद ख़ुर्शीद जो की इटवा से प्रत्याशी है वो बंगवा बराई , डोमरियागंज, सिद्धार्थ नगर के निवासी है। अच्छा रहेगा के ग़लत अफ़वाहें ना फैलायीं जायें।
    ज़रूरत पढ़ने पर सबूत प्रस्तुत कर सकता हूँ।
    धन्यवाद।

    • समद साहब आपको बता दें कि खुर्शीद साहब बनगवा बरई के हैं यही नही वह हमारी रिश्तेरी रिश्तेदारी में भी आते है। अब आप बताएं कि वह डुमरियागंज में रहते हैं या बनगवा बरई में या फिर बलरामपुर। आपके जवाब का इंतजार रहेगा।

Leave a Reply