नायब तहसीलदार की हत्या के प्रयास के मामले में दो गिरफ्तार, मुख्य आरोपी अभी भी फरार

December 18, 2023 12:28 PM0 commentsViews: 657
Share news

घटना के बाद फरार चालक द्धारा जारी विडियो में रिश्वत मांगने के आरोप

की भी होगी जांच, चर्चा है कि अभियुक्त सईद मौके पर मौजूद ही नहीं थे

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज के नायब तहसीलदार की गाड़ी को जेसीबी से टक्कर मारकर जान लेने के प्रयास के मामले में भवानीगंज पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है।  पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों पर हत्या के प्रयास, अवैध खनन, लोकसेवक को बाधा पहुंचाने आदि सहित अन्य धाराओं में तीन के खिलाफ केस दर्ज किया, जिसमें दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य अभियुक्त की तलाश शिद्दत से जारी है।

कब कैसे हुई गिरफ्तारी

बताते हैं कि शनिवार रात को नायब तहसीलदार की तहरीर मिलते ही भवानीगंज पुलिस सक्रिय हो गई। रविवार को पुलिस ने अलग अलग टीम भेज कर जेसीबी मालिक मोहम्मद मोबिन खान निवासी धौरहरा, थाना सोनहा जनपद बस्ती और ईट भट्ठा मालिक मो. सईद  निवासी मिश्रौलिया, थाना डुमरियागंज को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में मुख्य आरोपी अज्ञात चालक फरार चल रहा है।  हालांकि क्षेत्र में चर्चा है कि भट्ठा मालिक मुहम्मद सईद तो मौके पर थे ही नहीं फिर भी उन्हें अभियुक्त बनाया गया ।

चाालक ने लगााया रिश्वत मांगने का आरोप

इस संबंध में सीओ डुमरियागंज सुजीत राय ने बताया कि नायब तहसीलदार महबूब आलम की तहरीर पर दो आरोपियों पर हत्या के प्रयास सहित अन्य धारा में केस दर्ज करके गिरफ्तार कर जेल भेजा गया,है। वहीं, जेसीबी मशीन का कोई भी कागज नहीं मिलने पर उसे भी सीज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। हालांकि, फरार चालक वीडियो के माध्यम से आरोप लगाया था कि मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार 10 हजार रुपये रिश्वत मांग रहे थे।

क्या थी पूरी कहानी

बता दें कि नायब तहसीदार डुमरियागंज महबूब आलम शनिवार को सहयोगी राजस्व कर्मियों के साथ वसूली पर गए थे। इसी दौरान ट्रॉलियों पर मिट्टी लदी निकलता देखा। इसके बाद बनगंवा नानकार गांव में खनन वाले स्थल पर पहुंचे। जहां खनन से संबंधित कागजात मांगने पर कगजात दिखाने के बजाए गाड़ी लेकर भागने लगे, जिसका पीछा करने के दौरान जान से मारने की नीयत से गाड़ी में जेसीबी से टक्कर मार दिया। इससे गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई, मगर वह बच गए। नहीं तो बड़ी अनहोनी हो सकती थी। इसके बाद बाद पुलिस को सूचना दी गई। भवानीगंज पुलिस ने घेराबंदी की तो चालक जेसीबी मशीन भड़रिया चौराहे के पास छोड़कर फरार हो गया। राजस्व कर्मियों के मदद से जेसीबी मशीन को डुमरियागंज तहसील परिसर में लाया गया। जिसे रविवार को भवानीगंज पुलिस को कार्रवाई के लिए सुपुर्द कर दिया गया।

जिलाधिकारी ने क्या कहा

इस मामले में जिलाधिकारी पवन अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि बनगवां नानकार में मिट्टी खनन के मामले के मामले में केस दर्ज किया गया है। नायब तहसीलदार को गाड़ी से कुचलने की कोशिश और वीडियो में चालक के रिश्वत के आरोप के मामलों की जांच की जा रही है। जो दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

 

 

Leave a Reply