वैभव की निर्मम हत्या पर अभी तक उदास है डुमरियागंज, विरोधियों की आंखें भी नम

December 18, 2017 12:33 pm0 commentsViews: 842
Share news

 

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।  डुमरियागंज के पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी के बेटे वैभव तिवारी के अंति म संस्कार के बाद भी समूचा डुमरियागंज क्षेत्र शोक में डूबा हुआ है।  अपने तो अपने, उनके विरोधियों की आंखें भी उनके अंतिम संस्कार के बाद भी नम हैं। यह हत्या जिस निर्मता से हुई है, वो सबका कलेजा कंपा दे रही है।

घटना की खबर सुन कर सबसे पहले पहुंचे डुमरियागंज के सांसद जगदम्बिका पाल ने वैभव के पिता जिप्पी तिवारी के सीने से लग कर उन्हें ढांढस बंधाया और पूरी रात उनके साथ रहे। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय ने शोक विहृवल हो कहा कि क्षेत्र ने एक उदीयमान प्रतिभा को खो दिया। उन्होंने घटना को लेकर एसएसपी लखनऊ से बात भी की।

इस हत्या से दुखी उनके पिता के राजनीतिक विरोधी और पूर्वमंत्री मलिक कमाल यूसुफ ने कहा कि  वैभव की हत्या इंसानियत की हत्या है। जिप्पी तिवारी मेरे राजनैतिक विरोधी रहे, लेकिन उनके बेटे वैभव ने सदा ही मुझे पिता समान आदर आदर दिया। राजनीतिक प्रतिद्धंदिता अलग है और संस्कार अगल चीज है। बसपा नेता सैयदा खातून ने कहा कि  राजनीतिकि मतभेद के बावजूद वैभव ने मुझे बड़ी बहिन  सा प्यार दिया। दोनों नेताओं ने हत्यारों को कड़ी सजी देने की मांग की।

सपा नेता चिनकू यादव अंतिम संस्कार से लौट कर भी गमगीन हैं। उनका कहना था कि वैभव छोअे भाई के समान थे। उनमें संस्कार भरे थे।  राजनीति से इतर वे छोटे बडे से प्रेम से मिलते थे। वे भविष्य के नेता भी थे। लेकिन ईश्वर ने असमय उन्हें छीन लिया।

सपा नेता अफसर रिजवी, घिसियावन यादव, भाजपा नेता मकसूदन अग्रहरिं, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष नरेन्द्र मणि, बसपा नेता जहीर मलिक, नगर पालिका चेयरमैन अहमद बब्बू, सरदार जिम्पी भाटिया, इरफान मलिक, पूर्व प्रमुख सलमान मलिक आदि जहां भी बैठते हैं इस निर्मम हत्याकांड पर उन सबका विचल उनके चेहरे से जारि हो ही जाता है।  सभी ने पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए वैभव के हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करने व उनको कड़ी सजा देने की मांग की है।

 

 

 

(571)

Leave a Reply


error: Content is protected !!