आखिर एक अनजान आदमी ने डुमरियागंज के सालेह अंसारी को दमन में क्यों मार डाला

July 1, 2024 12:24 PM0 commentsViews: 406
Share news

पहले से न कोई जान न पहचान, फिर भी दो मिनट की बातचीत में ऐसा क्या हुआ कि हत्यारे ने आधी रात के बाद सालेह को मार डाला

 नजीर मलिक

चित्र परिचय— मृतक सालेह अंसारी

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज थाना क्षेत्र के ग्राम कादिराबाद निवासी सालेह अंसारी की हत्या के आरोप में एक व्यक्ति को महाराष्ट्र के बारामती से गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़े गए व्यक्ति का नाम विष्णु है तथा वह स्थानीय सीमा से सटे नेपाल के कृष्णानगर का निवासी बताया जाता है। 40 वर्षीय सालेह की हत्या बुधवार को गुजरात के वापी सिटी से सटे दमन में कर दी गई थी। ताज्जुब की बात है कि मृतक सालेह और अभियुक्त विष्णू की पहले से कोई जान पहचान नहीं थी, लेकिन घटना की शाम दो मिनट  की बातचीत में कुछ ऐसा हो गया कि विष्णू को रात एक बजे उसकी हत्या कर देनी पड़ी।

 गुजरात के वापी स्थित कपिलवस्तु पोस्ट के संवाद सूत्र ने कपिलवस्तु पोस्ट को बताया कि केन्द्र शासित प्रदेश दमन दीव के दमन शहर में मुकामी पुलिस को जांच के दौरान घटनास्थल के पास विष्णु नामक व्यक्ति को संदिग्ध अवस्था में देखा गया था। बाद में जब पुलिस ने पूछताछ के लिए विष्णू को तलाश किया तो पता चला कि रात में हत्या करने के बाद विष्णू भोर में ही बाद बारामती चला गया है। दमन पुलिस ने बारामती पुलिस के सहयोग से उसे हिरासत में लिया तो पूछताछ के दौरान उसने सालेह की हत्या करना कबूल कर लिया तथा उसने हत्या का बेहद रोमांचक कारण वताया है।

 विष्णु ने बताया कि 26 जून बुधवार की रात 8 बजे बारिश हो रही थी। अचानक विष्णू सड़क पर सालेह के गोदाम पर पहुंचा, और पानी मांगा। उसकी जुबान लड़खड़ाने के कारण सालेह को लगा कि उसने शराब पी रखी है, वह और पीने के लिए पानी मांग रहा है। यह जान कर सालेह ने उसे पानी देने से मना कर दिया। जिस पर विष्णू जिद करने लगा। इस पर सालेह ने वहीं रखी एक छड़ी से उसके हाथ पर मार दिया। इस प्रकार उसे मृतक सालेह ने उसे अपमानित कर वहां से भगा दिया। इससे वह क्रोधित हुआ और वहां से थोड़ी दूर पर एकबार में जाकर जम कर शराब पी। अधिक नशा होने के बाद उसे अपने अपमान की घटना कचोटने लगी।  

बताते हैं कि रात लगभग 1 बजे विष्णू सालेह अंसारी  के गोदाम पर पहुंच और सोते हुए सालेह पर मोटे डंडे से कई प्रहार कर सालेह अंसारी को मार डाला। इस पर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। यहां यह बता दें कि विष्णू सालेह अंसारी के जिले सिद्धार्थनगर के बढ़नी बार्डर से सटे नेपाल के कृष्णनगर का रहने वाला था। वह वापी और दमन में रह कर कभी कभार दिहाड़ी का काम करता था। यदा कदा वह उठाईगीरी कर दो चार सौ के सामानों को भी पार कर देता था। वह शराब का आदी था। मगर वह स्थाई रूप  से कोई काम धंधा न कर ऐसे ही अपना जीवन काट रहा था।

दूसरी तरफ सालेह की लाश उनके गांव कादिराबाद पहुंची, तथा शनिवार शाम को उन्हें दफन कर दिया गया। उनके जनाजे में काफी लोग शामिल रहे। सालेह हाल में ही कारोबार शुरू करने वहां गए हुए थे।

 

Leave a Reply