बेमौसम आंधी, बरसात, ओला गिरने से गेंहूं-आम की फसलों को भारी नुकसान, छाती पीट रहे किसान

March 30, 2018 6:20 PM0 commentsViews: 2041
Share news

अनीस खान

सिद्धाथर्रनगर। बस्ती, गोरखपुर व देवी पाटन मंडल में शुक्रवार सायं कई स्थानों पर आंधी के साथ बेमौसम बरसात व ओला वृष्टि के कारण गेहूं व आम की फसल को भारी नुकसान हुआ है। अनुमान है कि तीनों मंडलों के तीन लाख किसानों की लगभग एक लाख हेक्टेयर से अधिक फसल तबाह होगई है। किसान खून के आंसू रोने पर पर मजबूर हैं।

बताया जाता है कि शुक्रवार सायं लगभग पांच बजे इन तीनों मंडलों में आंधी के तेज झोंक उठे। इसके बाद ओलो के साथ बरसात शुरू हो गई। जो देर शाम तक जारी रही।। इससे खेंतों में खड़ी गेहूं की फसल को बहुत भारी नुकसान हुआ। जो छोटे किसान कम्बिाइन के बजाये परंपरागत फसल कटाई कर अपनी फसल को खलिहान में पहुंचा दिया था, उनका भी काफी नुकसान हुआ।

इसके अलावा इस वक्त आम की फसल भी आ चुकी थी थी। उनके बौर मटर के दाने के बाराबर टिकोंरों का रूप ले चुके थे, लेकिन आंधी, पानी और ओला वुष्टि उन पर भी कहर बन कर टूटा। किसान जरंेगेन्द्र चौधरी के मुताबिक खेमों में खड़ी गेहूं की फसल का 50 फसदी नुकसान हुआ है। इतना ही आम की फसल पर भी तबाही आई है।

अनुमान है कि बेमौसम बरसात और ओले से तकरीबन एक लाख हेक्टेअर गेंहूं की फसल तबाह हुई है तथा कम से कम 40 हजार हेक्टेयर  आम की फसलों का नुकसान हुआ है। किसानों की कुल अनुमानित क्षति अरबो में हुई है। वास्तवकि क्षति का सर्वे  होने के बाद ही पता चलेगा। फिलहाल  किसान खेतों में बैठ कर अपना माथा व छाती पीट रहा है। देखना है कि सरकार उनकी मदद के लिए कितना आगे आती है।

 

 

 

Leave a Reply