जिले में भाजपा ने 3 व सपा नेे 2 सीटें, हासिल कीं,  सपा की सैयदा खातून रिकाउंटिंग में भी जीतीं

March 10, 2022 7:41 PM0 commentsViews: 2169
Share news

कपिलवस्तु सुरक्षित सीट से भाजपा के श्यामधनी राही सर्वाधिक वोटों से जीतने वाले विधायक बने

बेहद कड़े और रोमांचक मुकाबले में जीते पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व बरिष्ठ सपा नेता माता प्रसाद पांडेय

 

नज़ीर मलिक

अबीर गुलाल उड़ाते नवनिर्वाचित विधायक विनय वर्मा के समर्थक

सिद्धार्थनगर। विधानसभा चुनाव में भाजपा का दबदबा रहा। सिद्धार्थनगर में भाजपा को तीन और सपा को दो सीटें मिली है। भाजपा ने जहां बांसी, शोहरतगढ़ और कपिलवस्तु सीट पर जीत हासिल की है, वहीं सपा की झोली में इटवा और डुमरियागंज कि सीटें आईं हैं। गत चुनाव में भाजपा ने यहां की सभी 5 सीटें जीत कर सपा का सूपड़ा साफ कर दिया था।

बांसी विधानसभा क्षेत्र

प्राप्त विवरण के अनुसार भाजपा ने ज़िले मे पहली जीत बांसी सीट से दर्ज की, ज़हां प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने सपा प्रत्याशी नवीन उर्फ मोनू दुबे को 20215 मतों से हराया। जयप्रताप को 83033 और मोनू दुबे को 62884 मत मिले। बसपा के राधेश्याम पांडेय यहां तीसरे नंबर पर रहे।

शोहरतगढ़ सीट

इसी प्रकार शोहरतगढ़ विधान सभा क्षेत्र से भाजपा गठबंधन से अपना दल उम्मीदवार विनय वर्मा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी और सपा गठबंधन के सुभासपा प्रेम चंद को 24663 वोटों से हरा दिया। विनय  वर्मा को 71062 और प्रेमचंद को 46399 मत मिले। इसके अलावा बसपा के राधारमण त्रिपाठी  तीसरे व पूर्व विधायक पप्पू  चौधरी  चौथे स्थान पर रहे। जीत के बाद विनय वर्मा के समर्थकों ने जम कर अबीर गुलाल उड़ाये

 इटवा विधान सभा सीट

इटवा विधानसभा सीट से सपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय भी चुनाव जीत गए हैं। एक कठिन मुकाबले में उन्होंने ने प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्धिवेदी को 1532 वोटों से हराया। माता प्रसाद पांडेय को  63631 मत मिले जबकि सतीश द्विवेदी 62105 मत ही प्राप्त करने में सफल हो सके। बसपा के हरिशंकर सिंह  लगभग 18 हज़ार वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहे। कांग्रेस के अरशद खुर्शीद को चौथे स्थान पर संतोष करना पड़ा।

कपिलवस्तु सीट

कपिलवस्तु सीट पर मुकाबला गत चुनाव की तरह भाजपा के श्यामधनी राही यहां से जिले में सबसे अधिक 31225 वोट से जीते।उन्होंने सपा के विजय पासवान को हराया। श्याम धनी राही को कुल 122225 तथा पूर्व विधायक विजय पासवान को 91020 मत ही मिल सके। पासवान गत चुनाव में भी 38 हज़ार वोटों से पराजित हुए थे।

डुमरियागंज सीट

डुमरियागंज की मतगणना बहुत रोमांचक रही। यहां समाचार लिखने तक जीत हार की अधिकृत घोषणा नही हो सकी थी। फिर भी मतगणना समाप्त होने तक सपा की सैयदा खातून 491 मतों से चुनाव जीत चुकी थीं। मगर कतिपय आपत्तियों के चलते उन्हें प्रमाणपत्र नहीं मिल सका था। आपत्तियों के निवारण के काम चल रहा था।

मतगणना में सैयदा खातून को 8456 5आठ भाजपा के राघवेंद्र सिंह को 84095 मत हासिल हुए। इसके अलावा बसपा के अशोक तिवारी को 20246 वोट,  कांग्रेस की कांति पांडेय को 2446, एआईएमआईएम के इरफान मालिक को 4325, आम आदमी पार्टी के इंजीनियर काजी इमरान लतीफ को 411 व राजू श्रीवास्तव को 3698 वोट ही मिल सके।

रिकाउंटिंग में अधिक वोटों से जीतीं सैयदा

अंतिम समाचार भेजे जाने तक भजपा प्रत्याशी की आपत्ति पर डुमरियागंज की मतगणना दुबारा कराए जाने पर सपा की सैयदा ख़ातून पहले की अपेक्षा अधिक मतों से जीती। पहले वे 491 वोटों से जीतीं थी रिकाउंटिंग में वे 782 मतों से जीतीं। मगर खबर है कि 491 ही अधिकृत मत माना जाएगा। सैयदा की जीत पर डुमरियागंज में बहुत जोश है। देर रात तक मिठाइयां बंटने व गले मिल कर एक दूसरे को मुबारकबाद देने का दौर जारी था।

नोट— विस्तृत समाचार कल पढ़ें

 

Leave a Reply