पासवान और उग्रसेन के जबरदस्त दौरों से साइकिल की रफ्तार हो रही तेज

January 29, 2017 11:18 am0 commentsViews: 641
Share news

 

संजीव श्रीवास्तव

1111111111111

सिद्धार्थनगर। समाजवादी पार्टी के दो नौजवान उम्मीदवारों ने अपने हाहाकारी दौरे से जिले में साइकिल का जलवा कायम कर रखा है। कपिलवस्तु सीट के विधायक विजय पासवान और शोहरतगढ़ सीट के उम्मीदवार उग्रसेन सिंह ने नामांकन के पूर्व ही अपने विधानसभा क्षेत्रों को अपने जनसम्पर्क के माध्यम से मथ डाला है।

क्या कर रहे हैं विजय पासवान

पिछले दो महीने से विजय पासवान अपने पकडी चौराहा स्थित कैंप कार्यलय से सुबह रोज निकलते हैं और पहले से तय प्लान के मुताबिक किसी दिशा में निकल पड़ते हैं। उनकी गाड़ी केसाथ कोई तामझाम नहीं रहता। रास्ते में कोई गरीब मिलता है तो गाड़ी रोक कर उसका हालचाल लेते हैं। और उसकी समस्या का हल करने का प्रयास भी करते हैं।

वह गांवों में पहुंच कर लोगों को अखिलेश शासन  की उपलब्धियां बताते हैं और अपने द्धारा कराये गये विकास कार्यो को भी जनता को बताते हैं। वह उन विधायकों में शुमार हैं जो क्षेत्र में किसी की मौत अथवा शादी ब्याह की सूचना पर उसके घर जरूर पहुंचते हैं। यह उनकी सबसे बड़ी पूंजी है।

विधायक पासवान बोले

खुद विधायक बोले कि मैने इस क्षेत्र के गंभीर रोगों मसल हार्ट किडनी के आरेशन के लिए ५०० से अधिक गरीब लोगों को शासन से ५० हजार से लेकर ५ लाख का अनुदान दिलाया है। नदियों पर आधा दर्जन से पुल बनवाया है।इसके अलावा सरकार की हर योजनाओं का फायदा जनता को दिलाया है। मैने कभी किसी से कड़ी भाषा में बात नहीं किया।सबसे झुक कर मिला।यही वजह है कि जनता मुझसे बेहद उत्साह से मिलती है। यही संस्कार मेरी जीत का आधार बनेगा।

उग्रसेन कैसे करते हैं प्रचार

उग्रसेन सिंह सुबह आठ बजे के बाद अपने आवास से निकलते हैं। वह दिन भर में कई गांवों पर बैठकें करते हैं और चौपाल में लंबी बात करते हैं। किसी की समस्या का हल करने और भी मदद करने का काम करते हैं। वह देर रात तक बैठकों का कार्यक्रम खतम् करने के बाद घर लौटते हैं।

क्या है चुनावी मुद्दा

चुनावी मुद्दे पर उग्रसेन सिंह की दृष्टि बहुत साफ है। वह कहते हैं कि सेक्यूलर विचारधारावाले परिवार का होने के कारण हिंदू मुसलमानों के प्रति समान व्यवहार और समान दृष्टि रखना हमारा कर्तव्य है। इसके अलावा विकास हमारी प्रथमिकता है। उन्होंने कहा कि पापा स्व. दिनेश सिंह ने बतौर विधायक साम्प्रदायिक सौहार्द्र और विकास के लिए बहुत काम किया था। पापाके न रहने के बाद उस मशाल को बतौर विधायक माताजी ने जलाए रखा। हम भी उसी परंपरा को आगे बढा रहे हैं। जीत हमारी ही होगी।

 

(7)

Leave a Reply


error: Content is protected !!