नोटबंदी को लेकर ग्रामीणों ने किया रास्ता जाम

December 22, 2016 3:52 pm0 commentsViews: 324
Share news

अजीत सिंह

jaam2

सिद्धार्थनगर । सिकरी बाजार में कैश की समस्या से जूझ रहे बैंक उपभोक्ताओं ने जिला पंचायत सदस्य महेश प्रसाद कन्नौजिया और प्रभात सिंह के नेतृत्व में किया चक्काजाम नोट बंदी के लगभग डेढ़ महीने बाद भी समस्या का समाधान नजर नहीं आ रहा है। आम जनता आज भी नोट बंदी के चलते अपने दैनिक जीवन को भूलती नजर आ रही है। अपने दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए जहां आम जनता पैसे की जुगत के लिए रात से ही बैंक के बाहर लाइन लगाकर खड़ी हो जाती है । ऐसे में सुबह बैंक कर्मियों द्वारा कैश के ना होने, सर्वर डाउन होने अथवा अन्य विभिन्न प्रकार के कारणों से होने वाली परेशानियों से उपभोक्ताओं को सिर्फ निराशा ही हाथ लगती है।

बताते चलें कि सिद्धार्थनगर के सिकरी बाजार में भारतीय स्टेट बैंक में कैश ना मिलने से उपभोक्ता खासा नाराज नज़र आ रहे हैं। रोज-रोज बैंक के चक्कर काटने से उपभोक्ता पूरी तरह से परेशान हो गए ऐसे में आज जब उनके सब्र का बांध टूटा तो उन्होंने सिकरी मार्ग पर चक्का जाम कर अपनी मांगे पूरी करने के लिए शासन व प्रशासन से गुहार लगाई ऐसे समय में जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि महेश प्रसाद कन्नौजिया और प्रभात सिंह ने उपभोक्ताओं को भारत बताते हुए उन्हें विश्वास दिलाया की कैश की समस्या के निदान के लिए हर हद लड़ाई लड़ी जायेगी । यह लड़ाई जनता के हित के लिए होगी, इसके लिए हम हर संभव प्रयास करेंगे ।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी समस्या जिस प्रकार से संपूर्ण देश में है यह आम आदमी के लिए किसी भीषण बीमारी से कम नहीं। आगे उन्होंने कहा कि मुझे सिर्फ जुमले ही फेंकते हैं इसका कोई वास्तविकता से सरोकार नहीं होता उन्होंने देश से 50 दिन मांगे थे, लेकिन 50 दिन में लगभग एक हफ्ता ही बचा है, लेकिन स्थिति जस की तस बनी है। जैसी स्थिति नोट बंदी के पहले दिन थी पहले हफ्ते में थी वही स्थिति आज भी है ।

(0)

Leave a Reply


error: Content is protected !!